19 मार्च को देश भर में व्यापारी जलाएंगे चीनी माल की होली

Spread the love

लगातार चौथी बार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आतंकी मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के मामले में चीन द्वारा वीटो उपयोग करने एवं पाकिस्तान का हर तरह से लगातार साथ देने के साथ चीन ने खुद को भारत की सुरक्षा के विरोधियों के प्रथम कतार में खड़ा कर लिया है.

इससे देश भर में चीन के प्रति गहरा रोष और आक्रोश पनप रहा है और अब पाकिस्तान के साथ साथ चीन को भी देशवासी देश की सुरक्षा का दुश्मन मान रहे हैं. इस आक्रोश और रोष को आवाज देने के लिए कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने 7 करोड़ व्यापारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले देश भर में फैले 40 हजार से ज्यादा व्यापारिक संगठन से चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का आह्वान किया है.

कैट ने होली के मौके पर आगामी 19 मार्च को देश भर में चीनी वस्तुओं की होली जलाने की भी घोषणा की है. राजधानी दिल्ली में यह कार्यक्रम चीनी वस्तुओं के गढ़ सदर बाजार में होगा. वहीं, देश भर में लगभग 1500 स्थानों पर व्यापारिक संगठनों द्वारा यह होली जलाई जाएगी.

कैट ने सरकार से मांग की है कि प्राथम चरण में चीन से आयात होने वाली वस्तुओं पर 300 से 500 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी लगाई जाए और चीन से होने वाले आयात पर कड़ी नजर रखी जाए, क्योंकि इसमें बड़ी मात्रा में हवाला के लेन-देन का अंदेशा है. कैट ने सरकार से यह भी मांग की है कि चीनी वस्तुओं और कच्चे माल पर निर्भरता कम करने के लिए सरकार घरेलु लघु उद्योगों को एक स्पेशल पैकेज दे.

कैट के मुताबिक चीन से जो आयात होता है वो बड़ी मात्रा में वो साधारण से वस्तुएं हैं जो आम उपयोग में लाई जाती हैं. जो सम्मान चीन से आता है वो अच्छी क्वालिटी का है या नहीं इसको देखने वाला कोई नहीं है. यदि चीन की वस्तुओं की क्वालिटी को परखा जाए तो हमारे स्वदेशी उत्पाद कहीं बेहतर साबित होंगे और हमें चीन से आयात की जरूरत ही नहीं पड़ेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *