अध्यापक की नौकरी करने वाला फर्जी शिक्षक गिरफ्तार.

समाचार भारती ब्यूरो

दिनाॅंकः 21.12.2020 को एस0टी0एफ0, उ0प्र0 को फर्जी दस्तावेज तैयार
कराकर अध्यापक की नौकरी करने वाले फर्जी षिक्षक को जनपद गोरखपुर से गिरफ्तार करने
में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।
गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः-
बृजकिषोर यादव उर्फ भोला पुत्र रामचन्द्र यादव, निवासी-कुईचबर,
पोस्ट-भाटपाररानी थाना-भाटपाररानी, जनपद-देवरिया।
बरामदगीः
1- 610 रूपया नगद।
2- एक अदद मोबाइल फोन।
विगत कुछ समय से बेसिक षिक्षा विभाग, उ0प्र0 में फर्जी अध्यापको के नियुक्ति
की सूचना एस0टी0एफ मुख्यालय उत्तर प्रदेष को सूचना प्राप्त हो रही थी। इस
सम्बन्ध में एसटीएफ की विभिन्न टीमों एवं इकाईयों को अभिसूचना संकलन
कर कार्यवाही हेतु निर्देषित किया गया था। जिसके अनुपालन में श्री धर्मेष कुमार
षाही, पुलिस उपाधीक्षक, एसटीएफ, फील्ड इकाई गोरखपुर के पर्यवेक्षण में
एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई गोरखपुर द्वारा अभिसूचना संकलन किया जा रहा था।
अभिसूचना संकलन के क्रम में ज्ञात हुआ कि राकेष सिंह पुत्र जगदीष सिंह
निासी-कुईचवर, थाना भाटपाररानी, जनपद देवरिया एवं अष्वनी श्रीवास्तव पुत्र
लक्ष्मीषंकर श्रीवास्तव निवासी-बरडीहा पोस्ट- तुलसीबारा थाना खुखून्दु जनपद
देवरिया एक संगठित गिरोह बनाकर पैसा लेकर फर्जी अंक पत्र आदि दस्तावेज तैयार कर
अध्यापक के पद पर फर्जी तरीके से नियुक्ति कराते है। इसी क्रम में ज्ञात हुआ कि राकेष
सिंह व अष्वनी श्रीवास्तव द्वारा बृजकिषोर यादव उर्फ भोला पुत्र रामचन्द्र यादव,
निवासी-कुईचबर, पोस्ट-भाटपाररानी थाना-भाटपाररानी, जनपद-देवरिया को
फर्जी तरीके से पूर्व माध्यमिक विद्यालय बघाड़ी ब्लाक डुमरियागंज जनपद सिद्धार्थनगर
पर सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्त कराये है। जिसको जिला बेसिक षिक्षा अधिकारी,
सिद्धार्थनगर द्वारा फर्जी पात्रत्रा परीक्षा अंक पत्र ज्म्ज् 2013 अनुक्रमांक 3523522958
के आधार पर नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है।
आज दिनांक 21.12.2020 को मुखबिर खास द्वारा बताया गया कि उपरोक्त
बृजकिषोर यादव उर्फ भोला जो फर्जी दस्तावेज पर अध्यापक पद पर नौकरी कर रहा था
गोरखपुर रेलवे बस स्टेषन आने वाला है। इस सूचना पर निरीक्षक सत्यप्रकाष सिंह,
उ0नि0 एस0एन0 सिंह, उ0नि0 आलोक कुमार राय, हे0का0 यषवन्त सिंह, को0
आषुतोष कुमार तिवारी, कां0 महेन्द्र प्रताप सिंह रेलवे स्टेषन तिराहा से 100

मीटर कार्मल स्कूल वाली रोड पर समय 19.00 बजे बृजकिषोर यादव उर्फ भोला
को गिरफ्तार कर लिया गया, जिनसे उपरोक्त बरामदगी हुई।
पूछताछ पर फर्जी अध्यापक बृजकिषोर यादव उर्फ भोला ने बताया कि मैं
हाईस्कूल सन् 2000 में व इण्टर सन् 2003 में रघुराज सिंह इण्टरमिडिएट कालेज
बहिआरी बघेल थाना भाटपाररानी जनपद देवरिया से पास किया हॅूै। मेरे ही
गाॅव के राकेष सिंह व उनके सहयोगी अष्वनी कुमार श्रीवास्तव उपरोक्त जो अपने
ही कम्प्यूटर/लैपटाप पर फर्जी विभिन्न स्कूल/यूनिर्वसिटी के अंक पत्र अन्य
षैक्षिक दस्तावेज पर नौकरी दिलाते है। मैं वर्ष 2015 में सहायक अध्यापक के पद पर
नियुक्त हुआ। मैने नियुक्ति के लिए राकेष सिंह पुत्र जगदीष सिंह
निवासी-कुईचवर, थाना भाटपाररानी, जनपद देवरिया एवं अष्वनी श्रीवास्तव पुत्र
लक्ष्मीषंकर श्रीवास्तव निवासी-बरडीहा पोस्ट-तुलसीबारा, थाना खुखून्दु जनपद
देवरिया को पाॅच लाख रूपये दिया था।
गिरफ्तार अभियुक्त के विरूद्ध थाना कैण्ट, जनपद गोरखपुर में अभियोग पंजीकृत
कराया जा रहा है, अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।