आई आई टी कानपुर ने भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव (IISF 2020) के 6 वें संस्करण के शुभारम्भ की मेजबानी वर्चुअल रूप से की

ब्यूरो चीफ़ आरिफ़ मोहम्मद कानपुर

डॉ० हर्षवर्धन, माननीय केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान मंत्री और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री इस वर्चुअल शुभारम्भ के मुख्य अतिथि थे

कानपुर जैसा कि बहुप्रतीक्षित इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल (IISF 2020) 22 दिसंबर से शुरू होने वाला है, आईआईटी कानपुर (IIT-K) ने 21 दिसंबर, 2020 को इस कार्यक्रम के लिए एक वर्चुअल कर्टेन रेज़र की मेजबानी की। मुख्य अतिथि डॉ० हर्षवर्धन, माननीय केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री द्वारा, इस बहुप्रतीक्षित कार्यक्रम पर प्रकाश डाला गया । इस साल आईआईएसएफ 2020 ने आईआईटी कानपुर के साथ कार्यक्रम के आयोजन के लिए सांझेदारी की है,जो कि देश में अग्रणी शैक्षणिक संस्थानों में से एक है, जो विभिन्न क्षेत्रों में तकनीक-संचार नवाचार और अनुसंधान की खोज कर रहा है और संज्ञानात्मक विज्ञान, साइबर सुरक्षा, आपराधिक फोरेंसिक, अन्य लोगों के बीच स्थिरता सहित क्षेत्रों में अग्रणी नवाचार के लिए जाना जाता है। इस साझेदारी का उद्देश्य भारत को आत्मानिर्भर होने के अपने लक्ष्यों और ज्ञान के वैश्विक केंद्र के साथ वास्तविक बनाने में मदद करना है।

इस वर्चुअल शुभारम्भ में प्रो० एस० गणेश, उप निदेशक, आई आई टी कानपुर और डॉ० सुनील मिश्रा, जनरल सेक्रेटरी, विज्ञानं भारती (VIBHA), कानपुर प्रान्त, एसोसिएट प्रो० केमिस्ट्री DAV कॉलेज, ने कार्यक्रम में सबकी सहभागिता के लिए स्वागत भाषण दिया। प्रो० ए० आर० हरीश, डीन आरएंडडी, आईआईटी कानपुर और प्रो एस पांडा, राष्ट्रीय फ्लेक्सिबल इलेक्ट्रॉनिक्स केंद्र (NCFlexE), आई आई टी कानपुर ने बहुप्रतीक्षित इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल (IISF 2020) के लिए संस्थान द्वारा किये जा रहे अनुसंधानों और नवाचारों पर एक छोटी प्रस्तुति साझा की। श्री० जयंत सहस्रबुद्धे, राष्ट्रीय संगठन सचिव, विज्ञानं भारती (VIBHA), प्रो० संदीप वर्मा, सचिव, विज्ञान और इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड (SERB) और आई आई टी कानपुर के निदेशक प्रोफेसर अभय करंदीकर ने इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल वर्चुअल कर्टेन रेज़र कार्यक्रम में समल्लित होने वाले सभी लोगों को संबोधित किया। प्रो० तरुण गुप्ता, एसोसिएट डीन आरएंडडी, आईआईटी कानपुर ने वोट ऑफ थैंक्स दिया।

22 से 25 दिसंबर, 2020 तक होने वाले इस मेगा साइंस फेस्टिवल का छठा संस्करण वैश्विक कल्याण और आत्मनिर्भर भारत बनाने में विज्ञान की भूमिका को सामने लाएगा। छात्रों और नवोन्मेषकों के साथ भारत की वैज्ञानिक और तकनीकी प्रगति की उपलब्धियों का जश्न मनाते हुए, कार्यक्रम का यह आभासी संस्करण भी जनता के साथ जुड़ जाएगा, जिसमें दिखाया जाएगा कि कैसे विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित (एसटीईएम) बेहतर बनाने के लिए समाधान प्रदान करके एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 2015 में अपनी स्थापना के बाद से इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल का यह पहला आभासी संस्करण होगा।

भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव (IISF) विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय और पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा एक मंच के रूप में स्थापित किया गया था, भारत सरकार ने विज्ञान भारती (VIBHA) के साथ मिलकर यह प्रदर्शित किया कि विज्ञान कैसे भारत को एक विकसित आत्मनिर्भर राष्ट्र की ओर ले जा सकता है । इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल (IISF) का उद्देश्य भारत को नवाचार का एक वैश्विक केंद्र के रूप में स्थापित करके न केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व में बेहतर जीवन के उद्देश्य से तरक्की और विकास में तेजी लाना है l

डॉ० हर्ष वर्धन, माननीय केंद्रीय मंत्री विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण के भाषण के लिए वीडियो लिंक

भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव (IISF 2020) के 6 वें संस्करण के शुभारम्भ के कार्यक्रम का विडियो लिंक