आर्थिक तंगी के चलते कर्जदार व्यक्ति ने की आत्महत्या

कासगंज से ब्यूरो चीफ अशोक शर्मा की रिपोर्ट

बैंक लोन और गाडी फाइनेंस से परेशान था ग्रामीण,

फांसी लगाकर राकेश साहू ने मौत को लगाया गले,

मौत के बाद मृतक के परिवार में मचा कोहराम,

लाँकडाउन के चलते आर्थिकतंगी से जूझ रहा रमेश नाम का व्यक्ति,

कासगंज कोतवाली क्षेत्र के नगला अस्तल गांव का मामला,

खबर उत्तर प्रदेश के जनपद कासगंज से है । जहां एक अधेड कर्जदार व्यक्ति ने आर्थिक तंगी के चलते फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली।पुलिस ने अधेड व्यक्ति के शव को फांसी के फंदे से उतार अर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।वहीं आगामी कार्रवाई में जुटी हुई है।
आर्थिक तंगी से आत्महत्या करने वाला अधेड कर्जदार कासगंज जनपद के नगला अस्तल का रहने वाला राकेश साहू था। राकेश साहू के बेटे की माने तो उन पर बैंक कर्ज के अलावा प्राईवेट फाइनेंस और साहूकारों का कर्ज था।लाँकडाउन के चलते काम काज पूरी तरह से ठप्प हो गया। साहूकार कर्ज को लेकर राकेश साहू से कर्ज चुकाने का दवाब बना रहे थे, लेकिन वह कर्जदार कर्ज चुकाने में असमर्थ और डिप्रेशन में रहता था। इसी बात से झुब्ध राकेश साहू ने फांसी लगाकर आत्महत्या करने का मन बना लिया और अन्तय राकेश साहू ने जीने के ऊपर लगे कुंदे पर फांसी के फंदे पर लटक कर आत्महत्या कर ली। सुबह फंदे पर शव लटका देखा तो परिजनो में हडकंप मच गया। आनन फानन में स्थानीय लोगों के साथ पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।पुलिस ने जहां राकेश के शव को उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आगामी कार्रवाई शुरू कर दी।वहीं अनहोनी घटना को लेकर रमेश के परिवार में कोहराम मचा हुआ है।