उत्तर प्रदेश की नवीन सब्जी मंडियों में सब्जियों के दाम बढ़े प्याज के दाम फिर बड़े मंडी के अंदर एक नंबर प्याज ₹75 किलो

प्रदेश मुख्यालय से जनाब खान की रिपोर्ट

लखनऊ राजधानी की दुबग्गा फल व सब्जी मंडी में मंडी की आढ़ती गण अध्यक्ष परबेज आलम का कहना है मंडी के अंदर सब्जियों के दाम बढ़ते ही क्रय विक्रय पर पड़ा है बड़ा असर प्याज के दाम मैं आई बढ़ोतरी मंडी के अंदर एक नंबर प्याज ₹75 किलो नया आलू मंडी के अंदर ₹50 किलो देसी टमाटर 60 से ₹70 किलो हाइब्रिड टमाटर ₹50 केजी 1 नंबर मंडी के अंदर 65 से ₹70 केजी सारी की सारी हरी सब्जियों के दाम बढ़ते नजर आ रहे हैं नवीन सब्जी मंडी में बढ़ते दामों पर आढ़ती गण परेशानियों के कगार पर क्योंकि क्रेता महंगे माल को खरीदने में नाकाम साबित हो रहा है जिसके चलते माल हरी सब्जियां धरी की धरी रह जाती हैं लखनऊ राजधानी में पहले से ही बेरोजगारी लॉकडाउन के चलते महामारी के चलते आम आदमी क्रेता विक्रेता सभी परेशानियों से गुजर रहे थे कोरोना जैसी बीमारी महामारी का लखनऊ राजधानी के वासियों ने सामना करते हुए भुखमरी की कगार पर आ गए अभी भी रोजगार से कुछ लोग वंचित है और रोजगार धीरे धीरे चला चलते ही सभी मंडियों में सब्जियों के दाम बढ़ने लगे आम नागरिक सब्जी खरीदने को लेकर उसको सोचना पड़ता है इतनी महंगी सब्जियां और ऊपर से बेरोजगारी से वंचित कैसे करें गरीब आदमी अपने बच्चों का पालन पोषण कहां से खरीदें महंगी सब्जियां दुबग्गा सब्जी मंडी में आढ़ती गणों का कहना है अभी 2 दिन पहले प्याज और आलू के दाम 40 से 45 रुपए किलो थे एकदम महंगाई के बढ़ते ही क्रय विक्रय पर बहुत बड़ा असर पड़ गया इसी को लेकर दुबग्गा सब्जी मंडी में प्रदेश की सभी मंडियों में क्रेता आलू प्याज हरी सब्जियां खरीदने से पहले क्रेता को सोचना पड़ता है कि बाहर जब मैं बेचूँगा तो इतना महंगा माल कैसे बिकेगा क्योंकि लॉकडाउन कोरोना महामारी के बेरोजगारी के सताए हुए लोग हैं इसी के चलते क्रेता सब्जियां खरीदने में मंडियों के अंदर नाकाम साबित नजर आ रहे हैं सब्जियों के बढ़ते दामों को लेकर मंडी के अंदर तिरही तिरही मची हुई है क्रेता विक्रेता आम जनों में उत्तर प्रदेश मंडी परिषद को सब्जियों की महंगाई को लेकर क्रेता विक्रेता के हित के विषय में सोचना चाहिए आलू प्याज टमाटर मिर्चा अदरक लहसुन हरी हरी सब्जियां महंगाई को देखते हुए एक आम नागरिक गरीब मजदूर सब्जी खरीदने को लेकर 10 बार सोचेगा तब सब्जियां खरीदेगा क्योंकि बेरोजगारी के चलते मजदूरी ना के बराबर मजदूर को मिल रही है कभी मिलती है कभी नहीं मिलती है जिसके चलते पालन पोषण करने में मजदूर अपने परिवार को नाकाम साबित हो रहे हैं अब तो उत्तर प्रदेश सरकार में महंगाई सब्जियों में बढ़ती ही दिन पर दिन चली जा रही है अब गरीब मजदूर निर्धन बेसहारा सब्जी खाने में होगा ना काम अब जो भी क्रेता मंडी के अंदर से महंगी सब्जियां लाएगा जैसे कि प्याज एक नंबर ₹75 किलो और बाहर लाकर 90 से ₹100 किलो बेचेगा इसी तरीके से मंडी के अंदर से लाई गई सब्जियां बाहर फड़ वा दुकान वालों वालों सब्जियों के दाम होगा दुगना