एसडीएम सदर के आदेश को सोरों कोतवाल ने किया दरकिनार

कासगंज सोरों से ब्यूरो चीफ अशोक शर्मा की रिपोर्ट

तारापुर नसीर गांव में दिन रात चल रहा है जीएस की प्रस्तावित भूमि पर अवैध कब्जे का खेल,

ग्राम सभा की जमीन मुक्त कराने के लिए प्रधान ने लेखपाल से लेकर एसडीएम की अदालत में लगाई गुहार

भले ही प्रदेशके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अवैध कब्जेदारों से ग्राम सभा की भूमि को मुक्त कराने के निर्देश जिलाप्रशासन को दे दिये हो, परंतु उत्तर प्रदेश के जनपद कासगंज के अधिकारियों को यह आदेश कोई मायने नहीं रखते है।ग्राम प्रधान और ग्रामीणों द्वारा अधिकारियोंसे लगातार फरियाद करने के बावजूद भी अवैध कब्जेदार लगातार दिन रात ग्राम सभा की प्रस्तावित जमीन पर अवैध मकान की दीवार लगा रहे हैं, वहीं इलाका पुलिस एसडीएम के आदेश के वावजूद भी मूकबधिर बनकर तमाशा देख रही है।

मामला है सोरों कोतवाली क्षेत्र के तारापुर नसीरगांव का है। बताया जा रहा है कि गांव में ग्राम सभा की खसरा नबंर 227 और 228 कीजमीन खाली पडी थी। इसे तहसील प्रषासन ने पंचायत घर के लिए सर्वसम्मति से प्रस्तावितकर दी, लेकिन गांव के दबंग प्रवृति के मटरू पुत्र गुलजारी सिंह ने प्रस्तावित जमीन पर कब्जाकरने की नियत से दिन रात वाउंड्रीवाॅल तैयार कराकर मकान बना रहे है। इस मामले की शिकायतग्रामीणों और प्रधान अनिल कुमार ने एसडीएम सदर ललित को भी अवगत कराया और एसडीएमने इलाका पुलिस सोरों कोतवाल को तत्काल प्रभाव से अवैध निर्माण पर रोक लगाने के लिखित आदेश दिये थे। ग्राम प्रधान अनिल का आरोप है कि बीजेपी के सदरविधायक के हस्तक्षेप के बाद सोरों कोतवाली पुलिस ने अवैध निर्माण पर रोक नहींलगाई, जबकि दिन रात मटरू द्वारा ग्राम सभा की जमीन पर अवैध निर्माण कराया जा रहा है।साथ ही प्रधान ने बताया कि इस ग्राम सभा की भूमि पर अवैध कब्जे की शिकायत एकबार नहीं अनेको बार लेखपाल से लेकर उच्चधिकारियों से गई थी, लेकिन किसी नेअवैध निर्माण रूकवाने की जहमत नहीं उठाई।यहीं कारण है अवैध कब्जेदार मटरू इलाकापुलिस से सांठगांठ की धडल्ले से निर्माण कार्य जोरशोर से करा रहा है।