कासगंज- गैंगरेप पीडिता की ट्रेक्टर से कुचल कर हत्या के मामले में आईएएस को ट्वीट करना पडा महंगा

कासगज यूपी
ब्यूरो चीफ- अशोक शर्मा

कासगंज- गैंगरेप पीडिता की ट्रेक्टर से कुचल कर हत्या के मामले में आईएएस को ट्वीट करना पडा महंगा,

कासगंज के अमांपुर थाना क्षेत्र में आईएएस के खिलाफ मामला दर्ज,

14 जुलाई 2020 को थाने में शिकायत करने के बाद ट्रेक्टर से कुचल कर की गई थी मां बेटी की हत्या,

रिटायर्ड आईएएस अधिकारी हैं सूर्यप्रताप,

रिटायर्ड आईएएस अधिकारी पर समाजिक सौहार्द बिगाडने का आरोप,

कासगंज एसपी मनोज कुमार सोनकर के आदेश पर रिटायर्ड आईएएस के खिलाफ मामला दर्ज।

एंकर भले ही योगी सरकार महिला सुरक्षा को लेकर कितनी सजग है , इसकी बानगी एक रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सुर्य प्रताप ने टवीट करके सरकार को अवगत कराया। हालांकि ट्वीट पर रिटायर्ड आईएएस के खिलाफ कासगंज जनपद के अमांपुर थाने में आईएएस के खिलाफ समाजिक सदभावना बिगाडने का मामला एसपी के आदेश पर दर्ज कर लिया गया हो, लेकिन यह ट्वीट सरकार पर कई सवाल खडा कर रहा है।

आपको बता दें कि 14 जुलाई 2020 को कासगंज जनपद के अमांपुर थाने में एक गैंगरेप की पीडिता अपनी मां के साथ घर साइकिल पर सवार हो जा रही थी, तभी ट्रेक्टर सवार गैंगरेप के आरोपी ने दोनो मां बेटी के ऊपर ट्रेक्टर चढा कर हत्या कर दी।जिससे दोनो मां वेटी की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। दुखद और दुर्भाग्य घटना को लेकर रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप ने ट्वीट कर लिख दिया था कि योगी सरकार में रामराज्य नहीं बल्कि गैंगरेप राज्य है। इसी को लेकर कासगंज पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर ने रिटायर्ड अधिकारी आईएएस सूर्य प्रताप के खिलाफ समाजिक सदभावना बिगाड़ने के आरोप में संबंधित धाराओ में अभियोग दर्ज करने के आदेश दिये थे। इस आदेश पर अमांपुर थानाध्यक्ष ने आईएएस सूर्य प्रताप के खिलाफ मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।