चंद उद्योगपतियों और कम्पनियो को फायदा देना चाहती है सरकार-कुलदीप पांडेय

कासगंज, यूपी
ब्यूरो चीफ- अशोक शर्मा

कृषि अध्यादेश के विरोध में भाकियू के नेताओ ने सरकार के खिलाफ हल्ला बोला

कासगंज की सडको पर उतर कर मोदी, योगी की सरकार विरोधी लगाये नारे,

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लागू किये गए कृषि विधेयक बिल के विरोध में आज प्रदेश भर के साथ कासगंज जनपद में भी भारतीय किसान यूनियन के नेताओ ने सड़को पर उतर कर हल्ला बोला। साथ ही सरकार को कृषि विधेयक बिल को आमजन विरोधी तथा उद्योगपतियो के हितैषी बताया।
कासगंज जनपद में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय सचिव कुलदीप पांडेय के नेतृत्व में सैकडो किसान नेताओ के साथ सडको पर हल्ला बोला गया। इस दौरान जुलूस निकाल कर भारतीय किसान यूनियन के नेता बारह पत्थर मेंदान पर पहंुंचे।जहां उन्होंने जमकर मोदी योगी सरकार के खिलाफ नारे बाजी की। साथ ही एसडीएम ललित के माध्यम से राष्ट्रपति को एक ज्ञापन सौपकर कोरोना काल में लाये गए कृषि अध्यादेश को तत्काल वापस लिये जाने की मांग उठाई।इस दौरान उन्होंने सरकार को किसान, आमजन विरोधी बताते हुए कहाकि भाजपा सरकार किसानो की दोगुनी आय और कर्जमाफी वायदे के साथ केन्द्र में आई थीं, परंतु सत्ता में आने के बाद सरकार अपने वायदे से मुकर गई।चंद उद्योगपतियों और कम्पनियों से साजिश कर किसानों के विरूद्ध षडयंत्र रचकर कोरोना काल में कृषि अध्यादेश लेकर आये हैं। जिसका भानू गुट पुरजोर विरोध करता है।साथ ही अध्यादेश वापस नहीं लिये जाने पर 30 सितम्बर से किसान यूनियन के प्रांतीय अध्यक्ष के आहवान पर अनिश्चित कालीन धरना और करो या मरो के साथ आंदोलन करेंगे।