बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस की।

Spread the love

लखनऊ से मुख्य छायाकार पंकज जोशी के साथ वरिष्ठ संवाददाता अभिनव शर्मा की रिपोर्ट

उन्होंने कहा कि मैं राजनीति से सन्यास नहीं ले रही हूं। भाजपा से गठबंधन की अफवाह सपा-कांग्रेस के द्वारा फैलाई जा रही है, ताकि मुस्लिमों का वोट हमें न मिले। भाजपा, कांग्रेस की बाप निकली है। सीबीआई व ईडी का इस्तेमाल कर मुझे परेशान करने की कोशिश हुई। उन्होंने आज दोबारा कहा कि वे किसी का भी समर्थन करेंगी, लेकिन समाजवादी पार्टी को हर हाल में हराएंगे। दरअसल, पिछले दिनों मायावती ने कहा था कि सपा को हराने के लिए वे भाजपा को भी वोट दे सती हैं। जिसके बाद भाजपा ने साफ किया था कि उन्हें मायावती के समर्थन की आवश्यकता नहीं है।

भाजपा से मेल नहीं खाती हमारी विचारधारा

मायावती ने कहा कि बसपा, भाजपा के साथ किसी भी कीमत पर गठबंधन नहीं करेगी। लेकिन कांग्रेस और सपा के लोग गठबंधन करने का झूठा प्रचार कर रहे हैं। ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में 7 विधानसभा सीटों पर होने उपचुनाव में मुसलमानों का वोट बसपा को न पड़े। हमारा भाजपा के साथ कोई गठबंधन नहीं है न ही होगा। क्योंकि उनकी पार्टी की विचारधारा बसपा से नहीं मिलती है।
मेरे शासनकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ
बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि मैं काफी मजबूत हूं। एमएलसी चुनाव में समाजवादी पार्टी को हराऊंगी। मैं किसी के दबाव में आने वाली नहीं हूं। न ही अभी कोई सन्यास लेने वाली नहीं हूं। मायावती ने खासकर मुस्लिमों का जिक्र करते हुए कहा कि उनकी पार्टी ने सभी धर्मों व वर्गों का खास ख्याल रखा है। मुस्लिमों ने भी बसपा को वोट दिया और लोगों को टिकट भी दिया गया। भले ही छवि खराब की गई हो, लेकिन मेरे शासनकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *