दरोगा की गुंडागर्दी: पत्रकार को कार्यालय से उठाकर चौकी में पीटा थाने में नहीं लिखी रिपोर्ट, पीड़ित ने लगाई उच्चाधिकारियों से न्याय की गुहार


एटा। कोतवाली देहात थाना क्षेत्र की ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस चौकी के सामने बने दैनिक बदायूं अमर प्रभात अखबार के जिला कार्यालय में घुसकर दबंगों द्वारा पत्रकार की पिटाई कर दी, शिकायत पर पहुंची टीपी नगर पुलिस चौकी के दरोगा ने पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर उक्त अखबार के जिला संवाददाता को कार्यालय से उठाकर चौकी में यह कहते हुए बेरहमी से पिटाई की कि तूने फर्जी मुभड़े की काफी खबर छापी हैं, अब तुझे सबक शिखाएंगे। शिकायत के बावजूद थाने में कोई कार्रवाई नहीं की गई। पीड़ित ने उच्चाधिकारियों से शिकायत कर आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने और स्वयं को न्याय दिलाने की मांग की है।
कोतवाली नगर की विजयनगर कालोनी निवासी सचिन गुप्ता पुत्र अमरीश गुप्ता दैनिक बदायूं अमर प्रभात अखबार के पत्रकार हैं, कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के ट्रांसपोर्टनगर की पुलिस चौकी के सामने अखबार का जिला कार्यालय और उनकी परचून की दुकान है। एक माह पूर्व चौकी के उपनिरीक्षक अखिलाभ यादव व अन्य के खिलाफ फर्जी मुठभेड़ की खबर दैनिक बदायूं अमर प्रभात अखबार में छापी थी। कार्यालय पर 12 सीसीटीवी कैमरा अपनी निजी सुरक्षा के लिए पत्रकार ने लगवाए हैं। कार्यालय के पीछे की दीवार पर एक सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है।
पड़ोस में रहने वाले हरीश चौहान ने शराब पीकर 12 मई 2021 से कैमरा हटाने की बात कहते हुए प्रतिदिन गाली-गलौज करते चले आ रहे हैं। 13 मई 21 को हरीश चन्द्र चौहान पुत्र राजपाल चौहान, अनुज चौहान पुत्र हरीश चन्द्र चौहान निवासी टीपी नगर पुलिस चौकी के सामने व अतुल सोलंकी निवासी मानपुर थाना कोतवाली देहात ने कैमरा हटाने के लिए धमकाया। पीड़ित ने इसकी जानकारी कंट्रोलरूम को दी थी तो पुलिस ने आरोपितों को भगाया था।
आरोप है कि 16 मई 2021 की सायं करीब 5 बजे उक्त लोग एकराय मसबिरा होकर प्रार्थी के जिला कार्यालय पर आ धमके, गाली गलौज करते हुए बोले कि आज तुझे जान से मार देंगे। पीड़ित ने जिला पुलिस कंट्रोलरूम को अवगत कराया। इस पर टीपी नगर पुलिस चौकी प्रभारी अभिलाख सिंह यादव व दरोगा विपिन कुमार, सिपाही स्वतंत्र कुमार, सिपाही विश्नू कुमार, तीन अज्ञात सिपाहियों ने आते ही पीड़ित को गाली गलौज करते हुए मारपीट कर दी और कहने लगे कि तूने पूर्व में फर्जी मुठभेड़ में हमारे खिलाफ अपने समाचार पत्र में खबर लगाई थी, आज तुझे दिखाते हैं कि पुलिस की गुंडई क्या होती है।
चौकी प्रभारी का कहना था कि पुलिस से बड़ा कोई गुंडा नहीं होता है। चौकी प्रभारी अभिलाख यादव व दरोगा विपिन कुमार सिपाही स्वतंत्र कुमार व सिपाही विश्नू कुमार व तीन अज्ञात सिपाहियों ने प्रार्थी को जिला कार्यालय से जानवरों की तरह घसीटते हुए चौकी पर ले गए और पीड़ित को चौकी के अंदर ले जाकर बुरी तरह से मारापीटा, जिससे पीड़ित के शरीर पर गंभीर चोटें आईं हैं। पीडित को पुलिस घायलावस्था में चौकी के पीछी डालकर चली गई। होश आने पर पीड़त अस्पताल पहंुचा जहां चिकित्सीय परीक्षण कराया गया। इसकी शिकायत पीड़ित ने कोतवाली में की लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। इस पर जिला संवाददाता ने आलाधिकारियों से शिकायत कर आरोपित पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर कार्रवाई की मांग की है।

कुनाल सिंह सोंलकी, एटा