दुआ के साथ साथ दवा भी जरूरी है मानसिक रोगी के लिए-सीएमओ

कासगज यूपी

ब्यूरो चीफ- अशोक शर्मा

सदर विधायक ने किया विष्व मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के उद्घाटन की औपचारिकताए पूरी

मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम में पहंुची आषाओ, एएनएम, आंगनबाडियों को किया बीमारी के प्रति जागरूक
कासगंज।जनपद में स्वास्थ्य विभाग द्वारा विष्व मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों को मानसिक रोगियों को बचाने के लिए जागरूक किया गया।
स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयोजित विष्व मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम का आयोजन षहर के अषोक नगर स्थित पूर्व जिलाअस्पताल में हुआ।कार्यक्रम का षुभारंभ मुख्य अतिथि बतौर पहंुचे भाजपा के सदर विधायक देवेन्द्र सिंह राजपूत ने फीता काटकर किया। इस मौके पर उन्होंने गोष्ठी में मौजूद आषाओ और आंगनबाडियों को मानसिक रोगी होने वाले लक्षणों से अवगत कराया। साथ ही उन्होंने बताया कि बीमारी का मुख्य कारण डिप्रेषन है।नींद न आना या देर से नींद आना, उदास, या मायूस रहना, चिंता घबराहट, उलझन, किसी कार्य में मन न लगना, आत्म हत्या जैसे गलत कार्य मन में आना है। इस तरह के लक्षण षामिल होते हैं, इसका समय रहते उपचार मुमकिन है।मानसिक रोगी होना यह कोई घातक बीमारी नहीं है। दुआ के साथ साथ दवा भी जरूरी है।