धान की कम खरीद फरोख्त को लेकर प्रदेश भर के कांग्रेसी लामबंद

कासगज यूपी
ब्यूरो चीफ- अशोक शर्मा

कलेक्ट्रेट कार्यालय पर प्रदर्शन कर

जिलाप्रशासन के माध्यम से राज्यपाल को भेजा मांग पत्र,

बोले धान फरोख्त को लेकर किसानो का किया जा रहा है शोषण,

एंकर धान फरोख्त में हीलाहवाली और किसानों के शोषण को लेकर कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के आहवान पर आज गुरुवार को प्रदेश भर के कांग्रेसी नेताओ ने जिला मुख्यालय पर हल्ला बोल प्रदर्शन किया। साथ ही कांग्रेसियों ने जिलाप्रशासन के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर धान खेती को उचित दमों में बिक्री किये जाने की गुहार लगाई।

उप्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के आहवान पर कांग्रेस पार्टी के कासगंज जिलाध्यक्ष अदनान मियां की देखरेख में किसानो ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पर हल्लाबोल प्रदर्शन किया। साथ ही उन्होंने धान किसानों की समस्याओं को लेकर राज्य सरकार की संवेदनहीनता की निन्दा करते हुए कहा है कि शासन-प्रशासन की गलत कार्यप्रणाली के चलते किसान बेहद परेशान हैं। सरकारी क्रय केन्द्रों पर धान की खरीद बहुत कम हो रही है, जो थोड़ी बहुत खरीद हो रही है उसमें नमी के नाम पर कटौती कर किसानों का शोषण किया जा रहा है। अन्नदाता किसान सरकार की इस अकर्मण्यता के चलते गेहूं एवं अन्य फसलों की बुआई के लिए कर्ज के दलदल में फंसता जा रहा है। धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य सरकार देने की इच्छुक नहीं दिखाई दे रही है जिसका सीधा प्रमाण है किसान के उच्च क्वालिटी के धान में नमी बताकर 25 से 40 फीसदी तक की वजन में कटौती की जा रही है जो योगी सरकार की किसान विरोधी रवैये की परिचायक है।

अजय कुमार लल्लू ने कहा कि सरकारी उदासीनता का आलम यह है कि धान केन्द्र खोलने में सरकार पूरी तरह विफल साबित हो रही है जो थोड़े बहुत खुले भी हैं वहां कोई न कोई कमी और बहाना बताकर किसानों को दौड़ाया जा रहा है।इससे किसान की धान की फसल की लागत भी नहीं निकल पायेगी और किसान अगली फसल की बोआई के लिए मजबूरन कर्ज के जाल में फंस जाएगा।