नगर निगम और जलकल विभाग के भ्रस्टाचार की खुली पोल

ब्यूरोचीफ आरिफ़ मोहम्मद कानपुर

नाले के पानी से सड़कें बनी तालाब

कानपुर के ग्रीनपार्क के बाहर कृष्णा टावर के पास सड़क पर गंदे नाले के ओवरफ्लो हो जाने से सड़क पर पानी भर गया है। जिससे यातायात पूरी तरह से बाधित हो गया है। यहाँ से निकलने वालों का निकलना मोहाल हो गया है।
कानपुर के नगर निगम और जलकल विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आयी है। यहाँ नाले की साफ़ सफाई न होने के चलते सीवरलाइन के ओवरफ्लो हो जाने से नाले का गन्दा पानी सडकों पर बह रहा है जो राहगीरों के लिए मुसीबत का सबब बना हुआ है। इस पानी के ओवरफ्लो से सड़के तालाब का रूप ले चुकी हैं। लेकिन घण्टों बीत जाने के बाद भी अभी तक नगर निगम और जलकल विभाग का कोई भी कर्मचारी सुध लेने नहीं आया। इस पानी के बहाव के कारण स्थानीय लोगों के लिए मुसीबत बनी हुई है।
आपको बतादें कि शहर के गंदे पानी के बहाव और निकासी के लिए हर साल करोड़ों रुपयों का बजट पास होने के बावजूद भी नाले और नालियों की नियमित साफ़ सफाई नहीं की जाती है। अगर नियमित साफ़ सफाई की जाती तो नालों में पानी का ओवरफ्लो नहीं होता और न ही इस तरह सीवर का गन्दा पानी सड़कों पर भरता। सड़कों पर भरा गन्दा पानी बीमारियों को दावत दे रहा है। अगर इस समस्या पर प्रशासन का ध्यान न गया तो वो दिन दूर नहीं जब बीमारी अपने पाँव पसारकर लोगों को अपनी चपेट में लेना शुरू कर देगी। तब इस गंदे पानी से फैलने वाली बीमारियों का जिम्मेदार कौन होगा नगरनिगम या जलकल विभाग या फिर स्वास्थ्य विभाग।