निजी क्लीनिक संचालक पर गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप,

कासगज यूपी
ब्यूरो चीफ- अशोक शर्मा

निजी क्लीनिक संचालक पर गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप,

इंजेक्शन लगने से अधेड उम्र के व्यक्ति की उपचार के दौरान मौत,

परिजनो ने क्लीनिक पर शव रखकर उठाई कार्रवाई की मांग

एंकर कासगंज- शहर के एक निजी क्लीनिक संचालक पर मरीज के गलत इंजेक्शन लगाने से एक अधेड व्यक्ति की मौत का मामला सामने आया है।मृतक अधेड के परिजनो ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को क्लीनिक पर रखकर संचालक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

मृतक सदर कोतवाली क्षेत्र की गली नंबर पांच दुर्गा काँलोनी निवासी लक्ष्मीनरायन पुत्र सियाराम था। परिजनो की माने तो एक सप्ताह पूर्व लक्ष्मीनरायन की तबियत खराब हुई थी, तो वह डा. मुकेश पाठक के क्लीनिक पर लेकर पर पहुंचे। जहां परिजनो का आरोप है कि मुकेश ने गलत इंजेक्शन लगा दिया। जिससे लक्ष्मीनरायन के शरीर में इंफेक्शन बड गया। डा. ने मिशन हाँस्पिटल में जाकर भर्ती करा दिया।बाद में उनकी हालत बिगड गई तो उन्होंने अलीगढ के लिए रेफर कर दिया। जहां ले जाते समय उनकी मौत हो गई। परिजनो ने पहले पुलिस को तहरीर देकर शव का पोस्टमार्टम कराया और कार्रवाई न होते देख शव को क्लीनिक पर रखकर कार्रवाई की मांग पर अडे रहे। हालांकि मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनो का समझा बुझाकर और कार्रवाई के आश्वासन देकर शव को उठवा दिया।वहीं इस घटना को लेकर मृतक के परिवार में कोहराम मचा हुआ है।