पाकिस्तान पीएम ने UN प्रमुख को किया फोन, एक बार फिर अलापा कश्मीर राग

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार भारती-

न्यूयॉर्क- पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र के सामने अपना राग अलापा। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस से फोन पर बातचीत के दौरान कश्मीर का मुद्दा उठाया। संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने इस बात की जानकारी दी। भारत ने पाकिस्तानी पीएम को कड़ा जवाब देते हुए कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। पाकिस्तान को अपने काम से मतलब रखना चाहिए। इस मुद्दे पर दुजारिक ने कहा, ‘कश्मीर पर हमारे रुख को दोहराया गया है। सुरक्षा परिषद के आदेश के अनुसार एक पर्यवेक्षक समूह है। उनका इशारा ‘भारत और पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सैन्य पर्यवेक्षक समूह’ (यूएनएमओजीआईपी) की ओर था। दुजारिक ने बताया कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री महासचिव से बात करना चाहते थे।

उन्होंने कहा, ‘यह सामान्य है कि यूएन के महासचिव सरकारों और राष्ट्रों के प्रमुखों से बात करते हैं और जैसा कि मैंने कहा कि मैं इस बात की पुष्टि कर सकता हूं कि फोन पर बातचीत हुई है और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कश्मीर मुद्दा उठाया।’ बता दें कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री खान ने हाल ही में ट्वीट करते हुए कहा था, ‘कश्मीरियों को उनके भविष्य का फैसला करने की अनुमति दी जानी चाहिए।’

इमरान खान ने पुलवामा में आतंकियों और नागरिकों ही हत्या पर ट्वीट करते हुए कहा था कि भारतीय सुरक्षा बलों ने पुलवामा में निर्दोष कश्मीरी नागरिकों की हत्या की है, मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं। उन्‍होंने कहा था कि केवल संवाद के जरिए समस्‍या का हल‍ किया जा सकता है। हिंसा और हत्याएं इस मुद्दे को हल नहीं कर सकती हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि पाकिस्तान, संयुक्त राष्ट्र में भारत के कथित मानवाधिकार के उल्लंघनों का मुद्दा भी उठाएगा और मांग करेगा कि संयुक्त राष्ट्र संघ सिक्योरिटी संघ अपनी जम्मू-कश्मीर के प्रति अपनी प्रतिबद्धता पूरी करे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था, ‘उनकी ओर से आ रहा बयान उनके पाखंड और दोहरेपन को दिखाता है।’