फर्जी कॉल सेंटर से धोखाधड़ी करने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह का किया खुलासा

लखनऊ से मुख्य छायाकर पंकज जोशी के साथ अभिनव शर्मा की रिपोर्ट:

लखनऊ की साइबर क्राइम सेल ने कॉल सेंटर के माध्यम से कॉल कर कर धोखाधड़ी करते हुए लोगों से रुपए हड़पने वाले अंतर्राष्ट्रीय गिरोह को पकड़ा।लखनऊ साइबर क्राइम सेल ने अंतरराज्यीय तीन जालसाज को गिरफ्तार किया।जो चिनहट के देवां रोड पर गो-इंडिया नाम से कॉल सेंटर चला रहे थे।शातिर जालसाज अभिषेक कुमार,अशोक कुमार, राज कुमार वर्मा व मास्टरमाइंड आमिर ने मिलकर फेक कॉल सेंटर बनाया था।दिल्ली में बैठ कर आमिर नामक युवक द्वारा कॉल सेंटर संचालित किया जा रहा था।जालसाजों ने इंटरव्यू के माध्यम से 4 लड़कियों को नौकरी भी दी गई थी।


जालसाज ठगी का शिकार बनाने के लिए लुभावने सपने देकर अपने जाल में फसाते थे। फिर ओटीपी भेज कर, बैंक से रकम को हड़प लेते थे। लॉक डाउन के बाद से ही इन जालसाजो ने फेक कॉल सेंटर को देवा रोड की स्थिति अमेरिकन कोचिंग सेंटर के पास खोला था। ठगी करने के बाद जालसाज पैसों को आपस मे बांट लिया करते थे।अभी हाल ही के दिनों में क्रेडिट कार्ड बनाने के नाम पर सिराज नामक युवक से 30 हजार की ठगी करी थी।शातिर जालसाजों ने SBI बैंक से संबंधित वर्चुअल नम्बर का इस्तेमाल करते थे।लखनऊ की साइबर क्राइम सेल ने हसनगंज थाना में दर्ज हुई ,शिकायत पर किया खुलासा। साइबर सेल की टीम द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर बताया दिल्ली व बिहार में भी फर्जी कॉल सेंटर चला रहे थे। इनके पास से लैपटॉप, एटीएम कार्ड, मोबाइल फोन व फर्जी मोहर बरामद किए गए हैं। साइबर सेल इंस्पेक्टर मथुरा राय के नेतृत्व की टीम ने जालसाजी को गिरफ्तार किया गया। जिसमें मास्टरमाइंड आमिर फरार है।