फोटो-कोंच1-पूर्व कैबिनेट मंत्री अभिषेक मिश्रा का स्वागत करते लोग

by rahul dubey reporter jalaun

प्रदेश में जंगलराज, न केवल ब्राह्मïण बल्कि हर वर्ग का हो रहा उत्पीडऩ-अभिषेक मिश्रा

  • कोंच में पूर्व कैबिनेट मंत्री का हुआ जोरदार स्वागत, ब्राह्मïणों पर डाल गए डोरे

कोंच। उप्र सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और भगवान परशुराम चेतना पीठ के संस्थापक अध्यक्ष अभिषेक मिश्रा ने यूपी की योगी सरकार पर सीधा हमला बोला, कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है, अधिकारी बेलगाम होकर सरकार के एजेंटों की तरह काम कर रहे हैं। भ्रष्टाचार चरम पर है, भाजपा के नेताओं और जनप्रतिनिधियों के साथ अधिकारी दुरभिसंधि करके आम जनता और प्राकृतिक संसाधनों को जम कर लूट रहे हैं। इस सरकार में न केवल ब्राह्मणों बल्कि समाज के हर तबके के ऊपर लगातार अन्याय और अत्याचार हो रहा है। ब्राह्मïणों को लेकर उन्होंने कहा, ऐसा लगता है जैसे सरकार के संरक्षण में यूपी में एक मिशन चला कर ब्राह्मणों की हत्याएं की जा रही हैं। यह बात उन्होंने बरिष्ठ सपा नेता हरिश्चंद्र तिवारी के आवास पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए कही।

पूर्व कैबिनेट मंत्री का बरिष्ठ सपा नेता हरिश्चंद्र तिवारी और सपा के युवा नेता सनाढ्य सभा के मंत्री डॉ. मृदुल दांतरे के आवासों पर पार्टी कार्यकर्ताओं के अलावा विप्र समुदाय के लोगों ने जोरदार स्वागत किया। पूर्व मंत्री ने दोनों जगह जुटे ब्राह्मïण समाज के लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ब्राह्मïणों के ऊपर लगातार हो रहे हमले योगी सरकार की ब्राह्मïण विरोधी मानसिकता के प्रतीक हैं। भाजपा के सांसद और विधायक ब्राह्मïणों के खिलाफ अनापशनाप बयानबाजी करते रहे और भाजपा ने खेद तक नहीं जताया जबकि ब्राह्मïणों ने भी भाजपा को वोट किया था। उन्होंनेे कहा कि भाजपा ही ऐसी पार्टी है जो धर्म और जाति के नाम पर समाज को बांटने में लगी है। प्रदेश में जो हालात बने हैं उनमें आम जनता घुटन महसूस कर रही है और 2017 के विधानसभा चुनाव के अपने फैसले पर पछता रही है। सपा ही ऐसा दल है जिसमें ब्राह्मïणों का पूरा सम्मान है। उन्होंने दावा किया कि 2022 के चुनाव में सपा मुखिया अखिलेश यादव के नेतृत्व में सपा की सरकार बनने से कोई नहीं रोक सकता। सपा ने आगामी विधानसभा चुनाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। जनता के बीच पहुंचकर उनका दुख दर्द सुना जा रहा है और सपा मुखिया अखिलेश यादव की जनहितकारी नीतियों को आमजन तक पहुंचाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने योगी के नेतृत्व बाली भाजपा सरकार को नीतियों को जनविरोधी करार देते हुए कहा कि भगवान परशुराम जी को भगवान की श्रेणी से हटा कर महापुरुष बना दिया और परशुराम जयंती की छुट्टी तक खत्म कर दी जो ब्रह्म समाज के लोगों का सरासर अपमान है। इस दौरान पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लोहिया वाहिनी प्रदीप तिवारी, पूर्व विधायक दयाशंकर वर्मा, हरिश्चंद्र तिवारी, प्रदीप दीक्षित, दीपू त्रिपाठी उरगांव, राघवेन्द्रसिंह, शिवांग दुवे, संजीव तिवारी, अमित यादव, सरनामसिंह यादव, मनोज इकडय़ा, दीपक तिवारी कैलिया, अंशुल शुक्ला, उमाशंकर बुधौलिया, विनय दुवे, विनय पचौरी, राजीव तिवारी, राकेश चंसौलिया, राहुल तिवारी, ज्ञानेन्द्र दुवे, आलोक राठौर ब्यौना, राजू महाराज चांदनी, अनिल नगाइच, ताहिर कुरैशी आदि तमाम लोग उपस्थित रहे।

फोटो-कोंच2-पत्रकारों सेे बात करतेे पूर्व कैबिनेट मंत्री अभिषेक मिश्रा

सपा की सरकार बननेे पर मंडियां बहाल करने के लिए नया कानून बनेगा

  • किसानों और दुकानदारों और नौजवानों को बर्बाद नहीं होने देेगी सपा
  • बोले पूर्व कैबिनेट मंत्री, कारपोरेेट घरानों को मालामाल करनेे का कानून बनाया केन्द्र न

कोंच। भगवान परशुराम चेतना पीठ के संस्थापक अध्यक्ष सपा के राष्टï्रीय प्रवक्ता पूर्व कैबिनेट मंत्री ने हरिश्चंद्र तिवारी के आवास पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, केन्द्र सरकार ने कृषि मामलों को लेकर नया कानून कारपोरेेट घरानों को मालामाल करने और किसानों दुकानदारों को बर्बाद करने के लिए बनाया है। नए कानून के अमल में आने के बाद किसान अपने ही खेत मेें मजदूर बन कर रह जाएगा। किसानों की हालत अंग्रेजी हुकूमत के दौरान जैसी हो जाएगी। मंडियां खत्म करके दुकानदारों और छोटेे व्यापारियों को भुखमरी के कगार पर ले जाने की साजिश रची जा रही है। उन्होंनेे कहा, सपा नौजवानों, किसानों और दुकानदारों को बर्बाद नहीं होने देगी, प्रदेश में सपा की सरकार बनते ही मंडियां बहाल करने के लिए राज्य स्तर पर नया कानून बनाया जाएगा। उन्होंने योगी सरकार द्वारा लिए गए संविदा पर नौकरी के फैसले को सपा के दबाव में पीछे हटने का भी दावा किया। यह भी जोड़ा कि अगर यूपी सरकार ऐसा कोई नियम कानून बनाती भी है तो सपा की सरकार आते ही पहली कैबिनेट बैठक में उसे समाप्त करने का काम किया जाएगा। उन्होंनेे कहा कि सपा सरकार में सैकड़ों करोड़ के बुंदेेलखंड पैकेेज देकर विकास की रफ्तार बढाई गई थी लेकिन सूबे की सरकार ने सब कुछ खत्म कर दिया। आज हालात यह हैं कि किसानों को नलकूपों के लिए बिजली कनेक्शन लेने के लिए लाखों खर्च करने के बाद भी कनेक्शन लेने बालों की लंबी लाइनें लगी हैं लेकिन उन्हेें कनेेक्शन नहीं मिल पा रहेे हैें जबकि सपा सरकार ने ऐसे संयोजनों पर सब्सिडी का प्रावधान किया था। उन्होंने दावा किया कि आने बाले दिनों में जनता भाजपा को तगड़ा सबक सिखाने बाली है और प्रदेश में फिर सेे सपा की सरकार बनने बाली है।