बंद कमरे में हुई शाह और भागवत की बैठक, राम मंदिर निर्माण पर हुई चर्चा

मुंबई: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार देर रात संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की और कई अहम मुद्दों पर चर्चा भी की। शाह गुरुवार रात करीब दो बजे मुंबई के रामभाऊ महालगी प्रबोधनी में मोहन भागवत से मिलने पहुंचे। माना जा रहा है कि दोनों के बीच राम मंदिर और लोकसभा चुनाव को लेकर चर्चा हुई। बंद कमरे के अंदर दोनों के बीच बैठक करीब एक घंटे तक चली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या विवाद पर सुनवाई अगले साल तक टालने के निर्णय के बाद इस पर सियासी घमासान मचा हुआ है।

भाजपा नेता भी राम मंदिर पर मोदी सरकार से कोई अहम कदम उठाने की मांग कर रहे हैं। आरएसएस और विश्व हिंदू परिषद भी राम मंदिर के लिए सरकार से अध्यादेश लाने की मांग कर रहे हैं। राम मंदिर की मांग के बीच शाह और भागवत की बैठक काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। आरएसएस की अखिल भारतीय कार्यकारिणी मंडल की तीन दिनों तक ठाणे के भयंदर में चलने वाली बैठक का आज आखिरी दिन है।

सूत्रों के मुताबिक संघ प्रमुख ने बैठक में राष्ट्रीय, सामाजिक और धार्मिक मुद्दों पर मंथन किया। उल्लेखनीय है कि आरएसएस की मांग है कि जल्द से जल्द मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू करवाया जाए। वहीं, शाह ने भी हाल ही में कहा था कि उनकी इच्छा है कि 2019 से राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाए। संघ के सह सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य ने कहा कि सरकार को अब 1994 में किए गए वादों को पूरा करने का समय आ गया है और उसे इससे पीछे नहीं हटना चाहिए।