बनारस में बोले मोदी, आधुनिक स्वरूप संग नेचर, कल्चर और एडवेंचर का संगम बनेगी काशी

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार भारती-

वाराणसी – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र से विकास के बहुआयामी मॉडल को देश के सामने पेश किया। काशी में नए भारत की बुलंद तस्वीर साकार करते हुए पहले की सरकारों को कठघरे में खड़ा किया। बोले, जो काम दशकों पहले हो जाना चाहिए था, अब हो रहा है। गंगा में वाराणसी से कोलकाता की जल परिवहन सेवा का लोकार्पण करने के बाद पीएम ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार नदी मार्ग को व्यापार और कारोबार के लिए सक्षम बनाया गया। देश की सामथ्र्य हमारी नदियों की शक्ति के साथ पहले की सरकारों ने अन्याय किया। भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र व अन्य प्रदेशों की सरकार देश के विकास के लिए काम कर रही हैं। वोट बैंक की राजनीति नहीं बल्कि विकास देखकर ही जनता वोट देती है

जनसभा को किया संबोधित

वाराणसी शहर से एयरपोर्ट के बीच हरहुआ के वाजिदपुर में सोमवार को सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने बदलते बनारस और भव्य और दिव्य बनाने का संकल्प दोहराया। अपने संसदीय क्षेत्र को 2412 करोड़ की 17 परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास का तोहफा देने के साथ ही काशी की बढ़ती महत्ता का गौरवगान किया। बोले, अब समूचा पूर्वांचल जलमार्ग के जरिए पूर्वी भारत और बंंगाल की खाड़ी से जुड़ गया है। वॉटर वेज की इस कनेक्टिविटी को बढ़ाकर प्रयागराज तक ले जाना है। बनारस से जल, थल और नभ की बढ़ी कनेक्टिविटी का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि आज मैं आनंदित और प्रफुल्लित हूं। चार साल पहले हल्दिया से बनारस के बीच जल परिवहन के जरिए कनेक्ट करने का विचार रखा तो नकारात्मक बातों से मेरा मजाक उड़ाया गया। उन आलोचकों को आज जवाब मिल गया। गंगा में जल परिवहन न्यू इंडिया के न्यू विजन का सबूत है। यह जलमार्ग सिर्फ सामान ढोने के काम ही नहीं आएगा बल्कि पर्यटन को बड़ा फायदा होगा और बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल सहित पूर्वी एशिया तक से क्रूज टूरिज्म बढ़ेगा। काशी नेचर, कल्चर और एडवेंचर का संगम स्थल बनेगी।

गंगा के नाम पर रुपये पानी में बहाए गए

मां गंगा को नमन करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले की सरकार ने गंगा सफाई के नाम पर हजारों करोड़ रुपये पानी में बहा दिया। हमारी सरकार पैसों को गंगा की सफाई में लगा रही है। नमामि गंगे के लिए 23 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाएं स्वीकृत हुईं हैं जिनमें से 5000 करोड़ पर काम चल रहा है। गंगा की निर्मलता और अविरलता को लेकर हमारा संकल्प तेज गति से जनभागीदारी के जरिए आगे बढ़ रहा है।

सुगमता का सुविधा से सीधा रिश्ता

जल परिवहन से होने वाले व्यापार की सुविधा का विस्तार से बखान करते हुए मोदी ने कहा कि बनारस की एयरपोर्ट जाने वाली वल्र्ड क्लास सड़क सोशल मीडिया में छा गई है। बदलता बनारस सोशल मीडिया में ट्रेंड कर रहा है। अब यहां हवाई जहाज से उतरकर शहर की तरफ बढऩे वाले गर्व से भर जाते हैं। उन्हें यकीन नहीं हो पा रहा है कि यह वही रास्ता है जिसकी खस्ताहाली, गड्ढों और जाम के चलते उनका विमान छूट जाया करता था। उन्हें घंटों पहले घर से निकलना होता था। अब वही रास्ता देश-दुनिया के पर्यटकों को आकर्षित कर रहा है। सुगमता का सुविधा से सीधा रिश्ता होता है। विकास का यह क्रम पूरे देश में भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र व राज्यों की सरकारें कर रही हैं। दुर्गम आदिवासी इलाकों में एयरपोर्ट बन रहे हैं, पूर्वोत्तर भारत में ट्रेनें चलने लगीं, स्वच्छता और स्वास्थ्य पर गंभीर काम हुए। ग्रामीण स्वच्छता का दायरा जो पहले महज 40 फीसद था वो अब 95 फीसद पहुंच चुका है। आयुष्मान भारत से चालीस दिनों के भीतर दो लाख गरीबों का इलाज बढिय़ा अस्पतालों में हो चुका है।

प्रवासियों के स्वागत को रहें तैयार

पीएम बोले, चिर पुरातन काशी की नई तस्वीर दुनिया के सामने आ रही है। काशीवासियों से अपील की कि प्रवासी भारतीय दिवस में अब तीन माह ही बचे हैं। मैं भी दुनिया भर से आने वालों का स्वागत करने के लिए यहां रहूंगा, आप भी तैयार रहें। स्वागत व सुविधा का ऐसा माहौल बनाएं कि लोग बार-बार आएं। बनारस में हो रही बेहतरी को सहेजने और सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी आप सभी की है। 35 मिनट के अपने भाषण में हर-हर महादेव के उद्घोष संग अपनी बात की शुरुआत करते हुए पीएम ने भारत रत्न पंडित महामना मालवीय के व्यक्तित्व-कृतित्व को उनकी पुण्यतिथि पर प्रणाम किया।

बोले मंत्री

‘गंगा से परिवहन ही नहीं बल्कि पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। गंगा में फाइव स्टार क्रूज भी चलेंगे, आर्थिक समृद्धि होगी और रोजगार भी मिलेगा। मार्च तक गंगा 70 से 80 फीसद शुद्ध हो जाएंगी और अविरलता के भी इंतजाम हो रहे हैं।’ -नितिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री।

बोले सीएम

‘धार्मिक नगरी काशी से जल परिवहन की सुविधा मिलने से पयर्टन और व्यापार भी बढ़ेगा। गंगा की अविरलता और निर्मलता के लिए हो रहे कार्य अभिनंदनीय और अनुकरणीय हैं।’ -योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री-उप्र।

बोले भाजपा अध्‍यक्ष

‘बनारस के इंट्री प्वाइंट का मार्ग और रिंग रोड ऐसा हो गया है जिसे देखकर काशी आने वाले पर्यटकों को जापान, अमेरिका या बेंगलूरु में होने का अहसास होने लगा है।’ -डा. महेंद्र नाथ पांडेय, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा