बेरोज़गारी,किसानों की बेहाली,निजीकरण में भ्रष्टाचार सहित ६ सूत्रिय मांगों को लेकर विरोध मे उतरे सपा कार्यकर्ता हुए गिरफ्तार

प्रयागराज से ब्यूरो चीफ जफरुल हसन

अखिलेश यादव के आहृवान पर समाजवादी पार्टी के यूथ फ्रन्टल संगठन के पदाधिकारीयों व कार्यकर्ताओं को ज़िलाधिकारी प्रयागराज को ज्ञापन सौंपने जाते वक़्त किया गया गिरफ्तार””‘”””””

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आहृवाहन पर यूथ फ्रन्टल संगठन के पदाधिकारी व कार्यकर्ता पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार प्रदेश में किसानों की बेहाली,महंगी शिक्षा,बेरोज़गारी,निजीकरण में भ्रष्टाचार एवं नए रोज़गार,आरक्षण,उत्तर प्रदेश में बीएड प्रवेश परीक्षा में दलित छात्रों को निशुल्क प्रवेष परीक्षा सहित अन्य मांगों को लेकर ज़िलाधीकारी के माध्यम से प्रदेश के महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन सौंपना चाहते थे लेकिन भारी पुलिस बल लगा कर योगी सरकार ने विरोध में उतरे सपाईयों को लाठी और बन्दूक़ के दम पर गिरफ्तार कर पुलिस लाईन ले गए।समाजवादी पार्टी युवजन सभा के पूर्व ज़िलाध्यक्ष सन्दीप यादव,इलाहाबाद विश्वविद्धालय छात्र संघ के पूर्व उपाध्यक्ष अदील हमज़ा,अखीलेश गुड्डू,मुशीर अहमद,वीरु पासी,मयंक यादव जॉन्टी,प्रमिल यादव,संदीप चौधरी,प्रमोद यादव,मुलायम सिंहयादव यूथ ब्रिगेड के सचिव यथांश केसरवानी,यूथ ब्रिगेड के निर्वतमान महानगर अध्यक्ष सैफ फरीदी,सौरभ यादव रामा,मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड के निर्वतमान ज़िलाध्यक्ष डॉ०अच्छे लाल यादव समेत सैकड़ो कार्यकर्ताओं को कटरा आनन्द हास्पिटल से कलेक्ट्रेट जाते समय गिरफ्तार कर लिया गया।महानगर मीडिया प्रभारी सै०मो०अस्करी ने आरोप लगाया की योगी सरकार तानाशाही पर उतर आई हैं।लोकतन्त्र में अभिव्यक्ति की आज़ादी को दबाने के लिए सरकारी तंत्र का दुरउपयोग करते हुए युवाओं की आवाज़ को पुलिस की लाठी और गोली के दम पर दबा रही है।समाजवादी पार्टी लोकतंत्र का गला घोंटने वाली योगी सरकार के विरुद्ध लगातार सड़कों पर उतर कर अपना विरोध जारी रखे है और आम जनमानस के लिए हर क़ुरबानी देने से पीछे नहीं हटेगी।समाजवादी पार्टी अल्पसंख्यक सभा के प्रदेश सचिव मो०शारिक़,निर्वतमान महानगर अध्यक्ष शाहिद प्रधान,छात्र सभा के कार्यवाहक महानगर अध्यक्ष आक़िब जावेद खान,महानगर मीडिया प्रभारी एवं प्रवक्ता सै०मो०अस्करी ने प्रतापगढ़ शोक संवेदना व्यक्त करने जा रहे प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल व प्रदेश के विभिन्न जनपदों में शान्तिपूर्वक
ज्ञापन सौंपने जाने वाले सपाईयों पर लाठी चार्ज कर गिरफ्तार करने और लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगाते हुए योगी सरकार के दमन पूर्वक युवाओं की आवाज़ को लोकतंत्र का गला घोंटते हुए दबाए जाने की कड़े शब्दों में निन्दा की।