भारतीय किसान यूनियन का धरना प्रदर्शन

प्रयागराज से ब्यूरो चीफ जफरुल हसन की रिपोर्ट

धान क्रय केंद्र पर अनियमितता व बिजली मीटर में गड़बड़ी व विकास प्राधिकरण के मनमानी रवैया के विरोध में भारतीय किसान यूनियन का धरना प्रदर्शन

प्रयागराज थाना सिविल लाइन क्षेत्र गिरजा घर के पास भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय आवाहन पर भारतीय किसान यूनियन जिला इकाई अनुज सिंह जिला अध्यक्ष व मण्डल अध्यक्ष सालिगराम यादव के नेतृत्व में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन पर किसान अपनी समस्याओं को लेकर रात दिन परेशान है लेकिन शासन व प्रशासन किसी भी प्रकार का किसान हित में कोई कदम नहीं उठा रहा है कृषि प्रधान इस देश में किसान का हाल बस से बदतर होता जा रहा है आए दिन किसान आत्महत्या कर रहा है प्रयागराज जनपद का किसान भी परेशान है जिनके समस्याओं का समाधान किसान जिला प्रशासन द्वारा चाहता है। आंदोलन में शामिल हुए किसानों का कहना है, किसान हित में जल्द से जल्द जिला प्रशासन उचित कार्रवाई करें ताकि किसानों की समस्याओं का समाधान हो सके। वही जिला अध्यक्ष अनुज सिंह ने कहा जल्द से जल्द उचित कार्रवाई जिला प्रशासन नहीं करता तो प्रयागराज जनपद का किसान सड़कों पर उतरने को बाध्य होगा।
किसानों की मांगे निम्न है..

  1. केंद्र सरकार द्वारा पारित तीनों कृषि कानून में पंजाब सरकार व छत्तीसगढ़ सरकार के तरह उत्तर प्रदेश सरकार भी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदारी सुनिश्चित करने के लिए कानून बना हुआ इसमें कालाबाजारी करने वालों पर जलवा जुर्माना का प्रावधान तत्काल लागू करें
  2. प्रदेश में गन्ना किसानों के बकाया का भुगतान किया जाए व गन्ना मूल्य वृद्धि तत्काल प्रभाव से लागू किया जाए।
  3. धान क्रय केंद्रों पर किसानों के धान को करा केंद्र के कर्मचारी मनमाने ढंग से वापस कर रहे हैं व किसान का धान खरीदने में आनाकानी कर रहे हैं जनपद के सारे धान क्रय केंद्रों को तत्काल सुचारू ढंग से चालू किया जाए।
  4. बिजली विभाग में किसानों को कनेक्शन के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है किसान आए दिन बिजली विभाग के चक्कर काट रहा है परंतु अधिकारी व कर्मचारी कनेक्शन देने के नाम पर किसानों को परेशान कर रहे हैं ऐसे किसानों को तत्काल बिजली का कनेक्शन उपलब्ध कराया जाए।
  5. बिजली विभाग द्वारा जारी मीटर में भारी गुण दोष होने के कारण किसानों का बिल तीन से चार गुना तक ज्यादा आ रहा है ऐसे मीटरों को तत्काल प्रभाव से बदलकर किसानों के बिजली बिल में संशोधन कर रही धनराशि जमा कराई जाए।
  6. प्रयागराज विकास प्राधिकरण पिछले 28 वर्षों से किसानों की जमीनों का मुआवजा नहीं दे रहा है जबकि प्राधिकरण जमीनों पर पूर्ण रूप से कब्जा कर चुका है ऐसे किसानों को ब्याज सहित मुआवजा दिया जाए व अधिग्रहण के समय जो किसान अपने खेत में मकान बना के रह रहे थे ऐसे मकानों को रेगुलराइज इस करके किसानों के मकानों को सुरक्षित किया जाए।
  7. जनपद में लेखपालों के द्वारा बहुत से किसानों का किसान सम्मान निधि से वंचित रखा है ऐसे पात्र किसानों को चिन्हित कर किसान सम्मान निधि तत्काल दिया जाए।
  8. पुलिस द्वारा मांस के के नाम पर किसानों को हो रहा शोषण बंद हो और थानों में पुलिस किसानों से सम्मान सहित उनकी समस्याओं पर वार्ता कर निस्तारण करवाएं किसान के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले पुलिस कर्मियों के ऊपर कारवाई की जाए।