रेलवे ओवर ब्रिज की हालत खस्ता प्रयागराज में

प्रयागराज से ब्यूरो चीफ जफरुल हसन की रिपोर्ट

प्रयागराज गंगापार इलाके के फूलपुर तहसील के पास प्रयागराज जौनपुर फ्लाईओवर निर्मित रेलवे ओवरब्रिज में अभी तक ऊपर सड़कों पर ही गड्ढे जलभराव और अंदर के लोहे की सरिया के जाल दिखने से हड़कंप मचा था। तभी बृहस्पतिवार से कुरैशी मोहल्ला जमीला बाग में पुल के नीचे पुल की छत की कंक्रीट का कुछ भाग टूट कर गिरने से कई लोग घायल होने से बाल-बाल बच गए नीचे चारपाई कुर्सी लेकर बैठने वाले ठेले पर फल बेचने वालों में भगदड़ शुरू हो गई। आए दिन जल्दबाजी में बनाए गए उक्त फ्लाईओवर की गुणवत्ता पर उंगली उठती रही है मोहल्ले वालों ने संभावित खतरे को देखते हुए पुलिस चौकी को बताया तो शुक्रवार दोपहर सीमेंट बालू भरवा कर निचली छत की पैकिंग कराई जाने लगी बता दें कि प्रयागराज से गोरखपुर तक चलने वाली बसें तथा ओवरलोड ट्रकों की धमक से निचली छत में सरिया से कॉंक्रीट छोड़ कर जगह-जगह से गिरना शुरू कर दिया है बीच आबादी में बने इस फ्लाईओवर ब्रिज के नीचे से लोगों को निकलने में अपनी जान का खतरा महसूस हो रहा है जिसकी शिकायत कई बार आला अधिकारियों से भी की गई लेकिन ब्रिज कॉरपोरेशन के किसी भी अधिकारी की कान पर जूं नहीं रेंग रही कहीं किसी दिन बनारस के फ्लाईओवर की तरह यहां भी किसी बड़ी दुर्घटना के शिकार लोग ना हो जाए । पत्र लिखकर नसीरुद्दीन राइन, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य समाजवादी लोहिया वाहिनी ने मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश, मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश, मुख्य सचिव सेतु निगम और जिलाधिकारी को दिया है जिसमें कहा गया है कि अगर इस पुल की जांच कराकर दोषी ठेकेदार के विरुद्ध कार्यवाही नहीं की गई तो समाजवादी पार्टी के लोग एक बहुत बड़ा आंदोलन शुरू कर देंगे जिसकी जिम्मेदारी आला अधिकारियों की होगी।