लोकसभा चुनावों के नजदीक आते ही लोकतंत्र के विरूद्ध साजिश करने में जुट गई है भाजपा: अखिलेश यादव

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार भारती-
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि लोकसभा चुनावों के नजदीक आते-आते लोकतंत्र के विरूद्ध भाजपा साजिश करने में जुट गई है। भाजपा राज में किसानों की हालत खराब है, नौजवानों के साथ धोखा हो रहा है। कानून व्यवस्था ध्वस्त होने से जनसामान्य दहशत में है और महिलाएं तथा बच्चियां विशेषकर असुरक्षित महसूस कर रही है। समाज का हर वर्ग परेशान-बेहाल और भाजपा सरकार की कुनीतियों से निराश तथा आक्रोशित है।
        श्री अखिलेश यादव आज विभिन्न जनपदों से आए सैकड़ों कार्यकर्ताओं और अन्य लोगों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास ठप्प है। जनता के हित में एक भी योजना नहीं लागू हुई है। समाजवादी सरकार ने जो योजनाएं शुरू की थी वे भी बर्बाद हो गई है। समाजवादी सरकार के समय के कामों को ही भाजपा सरकार अपनी उपलब्धि बता रही है। उद्घाटन का उद्घाटन और शिलान्यास का शिलान्यास बस यही भाजपा सरकार का उल्लेखनीय काम है।
        श्री यादव ने कहा कि भाजपा ने किसानों से जो वादे किए थे, किसी पर रत्ती भर भी खरा नहीं उतरी है। किसानों को फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य तो छोड़िये किसानों को उत्पादन लागत भी नहीं मिली। धान की खरीद नहीं हुई। गन्ना किसानों को बकाया देने में चीनी मिलें आनाकानी करती रहीं। तमाम स्थानों पर गन्ना किसानों को पर्चियां तक नहीं बंटी। कर्ज से परेशान किसान आत्महत्या करने को मजबूर है। आलू किसान आज भी भटक रहा है। भाजपा ने 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने का एलान किया लेकिन उसकी कोई रूपरेखा कभी सामने नहीं आई।
        श्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार ने जीएसटी और नोटबंदी के जरिए पूरी अर्थव्यवस्था को चैपट कर दिया है। छोटा कारोबार बंद है। व्यापारी आज तक जीएसटी में रोज बदलते नियमों से नावाकिफ है और परेशानी में सिर धुन रहा है। जीएसटी की दरों में घट-बढ़ के चलते जनसामान्य भी उलझन में रहता है।
        श्री यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के लिए यह गर्व की बात है कि किसी भी राजनीतिक पार्टी में, समाजवादी पार्टी को छोड़कर, निष्ठावान और जुझारू नौजवान नहीं है। यह भी एक दुःखद सच है कि भाजपा ने वर्तमान पीढ़ी को न केवल गुमराह किया है अपितु नौजवानों के भविष्य के साथ छल भी किया है। नौजवानों का सपना हक और सम्मान का है। नौजवानों के इन सपनों को कुचला जा रहा है। इनको न तो रोजगार मिल रहा है और नहीं उनके हित में कोई काम की बात हो रही है।
        श्री अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराधों की बाढ़ आ गई है। कोई दिन ऐसा नहीं जाता जब हत्या, लूट, अपहरण और बलात्कार की घटनाएं न होती हों। मुख्यमंत्री जी ने सत्ता सम्हालते ही दावा किया था कि उनके राज में अपराधी या तो जेल में होंगे या प्रदेश छोड़कर चले जाएंगे। हकीकत में सब कुछ उल्टा नज़र आता है। महामहिम राज्यपाल जी पहले समाजवादी सरकार के समय खूब चिट्ठियां लिखते थें अब भाजपा सरकार के दावों का ही समर्थन कर रहे हैं। जब अपराधी जेल में या प्रदेश के बाहर चले गए हैं तो फिर अपराध कहां से और कौन कर रहा हैं? राजभवन को इसकी भी जवाबदेही सरकार से लेनी चाहिए।
        भाजपा सरकार ने दो वर्ष में ही पूरे प्रदेश को बर्बाद कर दिया है। अपराध नियंत्रण के लिए समाजवादी सरकार ने यूपी डायल 100 की व्यवस्था की थी जिसे भाजपा ने निरर्थक बना दिया। इसके तहत कुछ मिनटों में ही अपराध स्थल पर पुलिस पहुंच जाती। इस व्यवस्था की प्रशंसा विदेशों में भी हुई थी। इस तरह महिलाओं की सुरक्षा के लिए 1090 वूमेन पावर लाइन की व्यवस्था थी। अब कमिश्नरी सिस्टम से कैसे कानून व्यवस्था लागू हो सकेगी? अपराध नियंत्रण के लिए भाजपा सरकार में न तो क्षमता है और नहीं इच्छाशक्ति है।
        श्री यादव ने कहा कि भाजपा सरकार की विफलताएं जगजाहिर हैं। इसकी दीवारें दरक रही हैं। जनता में भारी असंतोष है। लोग बेसब्री से उस दिन का इंतजार कर रहे हैं जब उन्हें वोट से चोट करने का मौका मिलेगा। वह दिन भी अब दूर नहीं है। लोकसभा चुनाव सिर पर हैं। जनता तब नया प्रधानमंत्री चुनेगी और भाजपा के कुशासन से मुक्ति मिलेगी।