संपूर्ण समाधान दिवस में आने वाली शिकायतों का निर्धारित समय अवधि में करें निस्तारण-डीएम

ब्यूरोचीफ आरिफ़ मोहम्मद कानपुर

कानपुर देहात। जिलाधिकारी डॉ दिनेश चंद्र ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि संपूर्ण समाधान दिवस में आने वाली शिकायतों का निर्धारित समय अवधि में पूर्ण गुणवत्ता के साथ निस्तारण करना सुनिश्चित करें तथा इस बात का भी विशेष ध्यान रखा जाए कि आगामी तहसील दिवस से पूर्व सभी शिकायतों का निस्तारण पूर्व मानक के अनुसार कर लिया जाए और कोई भी शिकायत लंबित न रहने पाए। उन्होंने सचेत करते हुए कहा कि शिकायतों का समयबद्वता एवं गुणवत्तापूर्वक निस्तारण करना शासन के प्राथिमिता वाले कार्यक्रमों में शामिल है, अतः कोई भी अधिकारी उपलब्ध शिकायतों के निस्तारण करने में किसी भी प्रकार की शिथिलता अथवा लापरवाही न बरतें।
जिलाधिकारी डॉ दिनेश चंद्र ने जिला स्तरीय तहसील संपूर्ण समाधान दिवस के तहत तहसील सिकंदरा में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए।
उन्होने कहा कि शासन की मंशा को स्पष्ट करते हुए कहा कि प्रदेश के नागरिकों को शासकीय योजनाओं एवं विकास कार्यो का लाभ पूर्ण गुणवत्ता के साथ पहुंचे और कोई भी पात्र व्यक्ति जन कल्याणकारी योजनाओं के फायदे से महरूम न रहे। उन्होने निर्देश दिये कि सभी अधिकारी प्राप्त शिकायतों को पूर्ण गुणवत्ता और मानक के साथ निस्तारित करना सुनिश्चित करें और शिकायतकर्ता की संतुष्टि भी निश्चित रूप, से प्राप्त कर लें, शिकायतकर्ता को संतुष्ट किये बिना शिकायत का निस्तारण स्वीकार्य नहीं होगा। उन्होने यह भी निर्देश दिये कि यदि किसी शिकायत का निस्तारण किया जाना सम्भव नहीं है तो उसका स्पष्ट कारण लिखते हुए शिकायतकर्ता को अवगत कराया जाए ताकि वे अपनी शिकायत को पुनः पे्रषित न कर सके। उन्होने निर्देश दिये कि वर्तमान और लम्बित शिकायतों का निस्तारण पूर्ण गुणवत्ता के साथ सुनिश्चित करते हुए शिकायतकर्ता की संतुष्टि भी आख्या के साथ संलग्न करना सुनिश्चित करें।
आज सम्पूर्ण समाधान दिवस के मौके पर कुल 159 शिकायते दर्ज की गयीं, जिन में शिकायतों का मौके पर ही विभागीय अधिकारियों के माध्यम से निराकरण किया गया। वही वरासत अभियान के तहत मृतको के परिजनों को निशुल्क खतौनी वितरित की गई।
सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी, उप जिलाधिकारी सिकंदरा आरसी यादव तहसीलदार के अलावा सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे