संरक्षा नियमों का पालन कर रेल हादसों पर लगाम लगाए


उरई से वरिष्ठ संवाददाता राहुल दुबे की रिपोर्ट

उरई। झांसी मंडल से आए संरक्षा सलाहकार कपिल शर्मा ने कहा कि जब भी स्टेशन से ट्रेन गुजर रही हो तो पहियों से चिंगारी जैसा कुछ दिखाई दे तो तत्काल स्टेशन मास्टर को अवगत कराया और यदि ट्रेन उस स्टेशन से गुजर गई है तो अगले स्टेशन मास्टर को सूचना दें ताकि टे्रन रोककर हादसे को बचाया जा सके। संरक्षा सलाहकार नीलू कुमार ने कहा कि यदि ट्रेन में आगजनी की संभावना हो तो पहले ऐसे उपाय करें कि बिजली की सप्लाई तत्काल बंद कर दें और कोशिश करें कि हर जगह तापमान कम हो सके। कोशिश करें कि ट्रेन ऐसी जगह खड़ी करें जहां फायरबिग्रेड या आपदा प्रबंधन का इंतजाम हो सके। डिप्टी एसएस सुनील खरे ने बताया कि मालगाड़ी की शटिंग के दौरान नियमों का पालन करें। अपने डिप्टी एसएस, गार्ड और शटिंग मास्टर और चालक के बीच संवाद कायम रहना चाहिए। पीडब्लूआई केएल भारती ने ट्रैक की सुरक्षा को महत्वपूर्ण बताया और गेटमैन तथा ट्रैकमैन को विशेष सतर्कता बरतने की बात कही। संरक्षा सलाहकारों ने प्वाइंट्समैन सोनू चौधरी व आरती से संरक्षा संबंधी सवाल पूछे। सेमिनार का संचालन संरक्षा सलाहकार आरके दीक्षित ने किया।