गल्ला व्यापारियों ने सदर विधायक को सौपा ज्ञापन*

हड़ताल के आखिरी दिन भी दोहरी मंडी शुल्क नीति का किया विरोध
उरई। प्रदेशीय आवाहन पर छठवें दिन गल्ला व्यापार सेवा समिति उरई के अध्यक्ष प्रदीप माहेश्वरी की अध्यक्षता में मण्डी गेट पर दोहरी मंडी शुल्क नीति के विरोध में आज छठवें एवं आखिरी दिन गल्ला मण्डी बंद कर धरने के दौरान नारेबाजी कर सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा को ज्ञापन दिया। आज आंदोलन के आखिरी दिन गल्ला ब्यापार सेवा समिति के अध्यक्ष प्रदीप माहेश्वरी ने ब्यापारियों के साथ राज्यपाल को सम्बोधित आठ सूत्रीय ज्ञापन सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा को भेंट किया।इस दौरान संगठन के अध्यक्ष प्रदीप माहेश्वरी ने कहा कि भारत सरकार ने कृषकों को उचित मूल्य दिलाने हेतु मण्डी शुल्क की छूट दी है जिससे कृषि उत्पादन में किसी भी तरह का मण्डी शुल्क नहीं लगेगा परन्तु प्रदेश सरकार एवं मण्डी परिषद ने इस छूट से अलग रखा है।जिसके कारण गल्ला ब्यापारियों को कई प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार की इस दोहरी नीति के कारण भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा, बाहर किसी भी तरह की कोई गारंटी नहीं लाइसेंस नहीं होगा तथा वर्तमान भीतर बाहर भावों में अंतर से मण्डियों में माल आना बंद हो जायेगा। उन्होंने कहा कि जब मण्डियों में माल नहीं आयेगा तो बोली नहीं लगेगी तो भाव का पता नहीं चलेगा और किसान ठगा जायेगा साथ ही मण्डियों में कार्यरत कर्मचारी,मजदूर बेरोजगार हो जायेगा। उन्होंने कहा कि अभी एक-एक मण्डी में एक से 100 लोग बोली बोलते है बाहर इस तरह की कोई ब्यवस्था नहीं होगी। ज्ञापन के माध्यम से ब्यापारियों ने मांग की है इस दोहरी नीति को खत्म किया जाये जिससे ब्यापारियों को राहत मिल सके। इस मौके पर प्रमुख रूप से केदार भारद्धाज, अरविंद पटैरिया, उदय सिंह टिमरो, रविन्द्र करमेर, राजू चिल्ली, मनोज गुप्ता, राकेश बडेरा, संतोष गुप्ता, देवेंद्र कुमार बीजापुर, छोटे इटौदिया,अनूप लोखटिया, अनिल दुबे, महावीर गुप्ता,रवि इटौदिया, विजय पाल, संजू रिनिया, आशीष सेठ, कल्लू धमनी, रामप्रकाश बृजेश गुप्ता पंकज उमराव महेंद्र गुप्ता दिनेश गुप्ता अरविंद सोनी ब्रजकिशोर गुप्ता, दया गुप्ता, अरविंद चिकासी,सहित दर्जनों ब्यापारी मौजूद रहे। इससे पहले सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा ने ज्ञापन लेकर आंदोलित ब्यापारियों को भरोसा दिलाया कि वह ब्यापारियों की समस्याओं को राज्यपाल और मुख्यमंत्री से मिलकर हल करवायेंगे जिससे ब्यापारियों का हित हो सके। वही संगठन के अध्यक्ष प्रदीप महेश्वरी ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार ने व्यापारियों की उक्त मांगों का समाधान ना किया तो आगामी चुनाव में व्यापारी भाजपा का खुलकर विरोध करेंगे।