कासगज यूपी
ब्यूरो चीफ –अशोक शर्मा

निजीकरण के विरोध में उतरे रेलवे कर्मचारी,

सरकार के खिलाफ जमकर बोला जुबानी हमला,

बोले होश में आयें, अन्यथा होगा आंदोलन

मशाल जुलूस निकाल कर किया संकेतिक विरोध

कासगंज जनपद.में आज 7 सितंबर को कासगंज जंक्शन पर रेल कर्मचारियों द्वारा निजी करण और निगमीकरण के विरोध में तथा एनपीएस के विरोध में मशाल जुलूस निकाला कर सकेतिक विरोध कियाः

एनी रेलवे मेंस कांग्रेस के तत्वाधान में संपूर्ण पूर्वोत्तर रेलवे में केंद्रीय अध्यक्ष अखिलेश पांडे के नेतृत्व में सभी शाखा स्तर पर संगठन ने विरोध करने का निर्णय लिया आज रेल में बढ़ रहे निजी करण और निगमीकरण के खिलाफ विरोध दर्ज कराया और एनपीएस को वापस लेकर के पुरानी पेंशन लागू करने की सरकार से अपील की इस मौके पर एनी रेलवे मेंस कांग्रेस के जोनल अध्यक्ष शैलेंद्र सिंह यादव ने कहा कि केंद्र सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों के खिलाफ देश के सभी कर्मचारी एकजुट हैं सरकार को समय-समय पर कर्मचारियों द्वारा विरोध के माध्यम से अवगत कराया जाता रहा है परंतु केंद्र सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियां और केंद्र सरकार के तानाशाही रवैए के खिलाफ पूरा रेल संगठन तथा समस्त भारतीय रेल के कर्मचारी एकजुट होकर के विरोध करते हैं तथा सरकार से मांग करते हैं कि भारतीय रेल को बेचने का काम ना करें कोरोना महामारी में देश की हर कर्मचारी ने पूरी तरह से देश जनता कि सेवा की है प्राइवेट सेक्टर कहीं दूर-दूर तक दिखाई नहीं दिया मुसीबत के समय में केवल सरकारी कर्मचारियों ने देश और इस जनता का साथ दिया है अतः निजी करण निम्नीकरण के लिए गए फैसलों को तरफ सरकार तुरंत वापस ले देश में बढ़ती हुई बेरोजगारी को ध्यान में रखते हुए रेल में खाली पड़े लाखों पदों को तुरंत भरा जाए जिससे पढ़े-लिखे लोगों को युवाओं को रोजगार मिल सके तथा कर्मचारियों के भविष्य को सुरक्षा को देखते हुए पुरानी पेंशन को पुनः लागू करने की जाए इस मौके पर शाखा अध्यक्ष कासगंज श्री रामवीर सिंह श्री सतीश चंद्र पाल श्री मनोज कुमार यादव अमित कुमार कारी पासवान राघवेंद्र पाल धर्मवीर सिंह राजेंद्र सिंह शक्ति यादव अजय खरे अनिश कुमार सुशील उत्तम तिवारी विनोद कुमार वीरेंद्र राय मनोज कुमार राधेकृष्ण अजित अरुण समुराज मीणा विनय भगवान शाह बी एल मीणा राजकुमार ओमवीर बिजेंद्र कुशवाह राजकुमार मीणा तथा अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे