22 जनवरी के कोरोना वैक्सीनेशन में 1 लाख से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाने की गयी कार्यवाही

लखनऊ से संवाददाता आरिफ मुकीम की रिपोर्ट

वैक्सीनेशन का कार्य अगले सप्ताह से प्रत्येक गुरूवार व शुक्रवार को किया जायेगा।

मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में प्रदेश सरकार की कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने की कार्ययोजना कारगर सिद्ध हो रही है।

अब तक 2.69 करोड़ से अधिक कोविड-19 के टेस्ट तथा 15.23 करोड़ से अधिक व्यक्तियों से सम्पर्क कर कोविड संक्रमण की जानकारी ली गयी।

उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या में से लगभग 18 करोड़ लोगों तक पहुंचकर हालचाल जाना गया।

मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने हेतु अस्पतालों में समुचित इलाज व्यवस्था करने के साथ-साथ टेस्टिंग, काॅन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग, सर्विलांस का कार्य किया गया।

सरकार द्वारा 04 साल में 04 लाख सरकारी नौकरी देने का लक्ष्य पूरा हो रहा है।

प्रदेश में सूक्ष्म, लघु, मध्यक्ष व वृहद श्रेणी की 8.18 लाख इकाइयाॅ क्रियाशील है जिनमें 52 लाख श्रमिक कार्य कर रहे हैं।

प्रदेश में औद्योगीकरण को बढ़ावा देने तथा जीडीपी को 01 ट्रिलीयन डाॅलर इकाॅनामी तक ले जाने के लिए रणनीति बनाई गई है।

रणनीति के अन्तर्गत बड़े उद्योगों के साथ-साथ लघु एवं मध्यम उद्योगों को भी तेजी से आगे बढ़ाने के लिए हर सम्भव सहायता दी जा रही है।

बैंकों से समन्वय करके प्रदेश में अभी तक 7.15 लाख नई एमएसएमई इकाइयों को 24,839 करोड़ रूपये बैंकों द्वारा ऋण वितरित किये गये हैं।

प्रदेश में पुरानी इकाइयों को कार्यशील पूंजी की समस्या से निजात दिलाने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाइयों को रू0 11,100 करोड़ रूपये के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत करते हुए वितरित किये गये हैं।

इस प्रकार 11.52 लाख से अधिक एमएसएमई इकाइयों को बैंकों द्वारा 36,000 करोड़ रूपये से अधिक का ऋण उपलब्ध कराया गया।

प्रदेश में स्वरोजगार के कार्यक्रम तेजी से चलाये जा रहे हैं।

कल मुख्यमंत्री जी के कर कमलों से उद्यम सारथी ऐप का शुभारम्भ किया जायेगा।

उद्यम सारथी ऐप के माध्यम से विभिन्न स्वरोजगार कार्यक्रमों को एक मंच पर लाकर पूरा प्रोसेस बताया जायेगा।

प्रदेश सरकार द्वारा अभी तक 622 लाख कु0 धान किसानों से खरीदा गया है, जो पिछले वर्ष से लगभग डेढ़ गुना अधिक है।

नवनीत शाहगल

प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,22,378 सैम्पल की जांच की गयी।

प्रदेश में अब तक कुल 2,69,75,577 सैम्पल की जांच की गयी।

प्रदेश में कोविड-19 का रिकवरी प्रतिशत 97.34 है।

विगत 24 घण्टों में 513 तथा अब तक कुल 5,82,506 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं।

प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,83,903 क्षेत्रों में 5,08,815 टीम दिवस के माध्यम से 3,13,51,048 घरों के 15,23,25,831 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया।

प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 4,756 लोगों ने तथा अब तक कुल 4,31,065 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया।

आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत पात्र लोगों का गोल्डन कार्ड बनाया जाता है।

इस कार्ड के माध्यम से पात्र व्यक्ति को 05 लाख रूपये तक का इलाज अस्पताल में करा सकते हैं।

प्रदेश में आयुष्मान भारत योजना के 01 करोड़ 18 लाख पात्र व्यक्ति हैं।

अमित मोहन प्रसाद
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड वैक्सीन लगाने के कार्य के अन्तर्गत कल 22 जनवरी, 2021 को 1 लाख से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाने की कार्यवाही की गयी है। उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन का कार्य अगले सप्ताह से प्रत्येक गुरूवार व शुक्रवार को किया जायेगा। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में प्रदेश सरकार की कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने की कार्ययोजना कारगर सिद्ध हो रही है। प्रदेश में सर्विलांस का नया प्रयोग कर प्रत्येक परिवार तक पहंुच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक 2.69 करोड़ से अधिक कोविड-19 के टेस्ट तथा 15.23 करोड़ से अधिक व्यक्तियों से सम्पर्क कर कोविड संक्रमण की जानकारी ली गयी है। सर्विलांस अभियान के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या में से लगभग 18 करोड़ लोगों तक पहुंचकर हालचाल जाना गया है। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने हेतु अस्पतालों में समुचित इलाज व्यवस्था करने के साथ-साथ टेस्टिंग, काॅन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग, सर्विलांस का कार्य किया गया है।
श्री सहगल ने बताया कि संक्रमण कम होने से औद्योगिक गतिविधियां तेजी से सामान्य हो रही हैं। युवाओं के लिए मिशन रोजगार चलाया जा रहा है। प्रदेश सरकार युवाओं को सरकारी नौकरी, रोजगार, स्वरोजगार, कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से रोजगार में लगाने की एक मुहिम चला रही है। सरकारी नौकरियों में नियुक्तियों में तेजी लाई जा रही है। उन्होंने बताया कि सभी आयोगों, विभागों, निगमों, परिषदों को कहा गया है कि उनके यहां जितनी रिक्तियां हैं, उनको भरने के लिए प्रक्रिया शीघ्र पूरी की जाय। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा 04 साल में 04 लाख सरकारी नौकरी देने का लक्ष्य पूरा हो रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सूक्ष्म, लघु, मध्यक्ष व वृहद श्रेणी की 8.18 लाख इकाइयाॅ क्रियाशील है जिनमें 52 लाख श्रमिक कार्य कर रहे है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में औद्योगीकरण को बढ़ावा देने तथा प्रदेश की जीडीपी को 01 ट्रिलीयन डाॅलर इकाॅनामी तक ले जाने के लिए रणनीति बनाई गई है। जिसके अन्तर्गत बड़े उद्योगों के साथ-साथ छोटे उद्योगों को लघु एवं मध्यम उद्योगों को भी तेजी से आगे बढ़ाने के लिए हर सम्भव सहायता दी जा रही है। बैंकों से समन्वय करके प्रदेश में अभी तक 7.15 लाख नई एमएसएमई इकाइयों को 24,839 करोड़ रूपये बैंकों द्वारा ऋण वितरित किये गये हैं। प्रदेश में पुरानी इकाइयों को कार्यशील पूंजी की समस्या से निजात दिलाने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाइयों को रू0 11,100 करोड़ रूपये के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत करते हुए वितरित किये गये हैं। इस प्रकार 11.52 लाख से अधिक एमएसएमई इकाइयों को बैंकों द्वारा 36,000 करोड़ रूपये से अधिक का ऋण उपलब्ध कराया गया है। इन एमएसएमई इकाइयों के माध्यम से लगभग 27 लाख से अधिक लोगांे को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गये हैं। प्रदेश में स्वरोजगार के कार्यक्रम तेजी से चलाये जा रहे हैं। इसके क्रम में कल मुख्यमंत्री जी के कर कमलों से उद्यम सारथी ऐप का शुभारम्भ किया जायेगा। उद्यम सारथी ऐप के माध्यम से विभिन्न स्वरोजगार कार्यक्रमों को एक मंच पर लाकर पूरा प्रोसेस बताया जायेगा।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। जिसके क्रम में प्रदेश सरकार द्वारा अभी तक 622 लाख कु0 धान किसानों से खरीदा गया है, जो पिछले वर्ष से लगभग डेढ़ गुना अधिक है। किसानों को धान व मूंगफली का न्यूनतम समर्थन मूल्य दिलाया जाये। किसानों को किसी प्रकार की समस्या न होे तथा क्रय केन्द्र सुचारू रूप से कार्य करें तथा किसानों की उपज का वाजिब दाम मिले।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड वैक्सीन लगाने का कार्य किया जा रहा है। कल 22 जनवरी, 2021 को 1,01,006 स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाने की कार्यवाही की गयी है। उन्होंने बताया कि अगले सप्ताह से प्रत्येक गुरूवार व शुक्रवार वैक्सीनेशन का कार्य किया जायेगा, जिसके अन्तर्गत 28 जनवरी, 2021 एवं 29 जनवरी, 2021 को वैक्सीनेशन किया जायेगा।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,22,378 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,69,75,577 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 323 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 7,330 कोरोना के एक्टिव मामलों में से 2,319 लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में कोविड-19 का रिकवरी प्रतिशत 97.34 है। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 647 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों मंे अपना ईलाज करा रहे हंै। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घण्टों में 513 तथा अब तक कुल 5,82,506 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,83,903 क्षेत्रों में 5,08,815 टीम दिवस के माध्यम से 3,13,51,048 घरों के 15,23,25,831 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 4,756 लोगों ने तथा अब तक कुल 4,31,065 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया।
श्री प्रसाद ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत पात्र लोगों का गोल्डन कार्ड बनाया जाता है। इस कार्ड के माध्यम से पात्र व्यक्ति 05 लाख रूपये तक का इलाज अस्पताल में करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में आयुष्मान भारत योजना के 01 करोड़ 18 लाख पात्र व्यक्ति हैं। उन्होंने सभी लोगों से अनुरोध किया है कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु सम्बंधित काॅमन सर्विस सेन्टर अथवा मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय से सम्पर्क करे।
श्री प्रसाद ने सभी लोगों से अपील की है कि जब तक वैक्सीन की दोनों डोज लग नहीं जाती तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित नहीं हो जाती तब तक कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें। सभी लोग मास्क पहनें, हाथ साबुन-पानी से धोते रहें तथा लोगों से दो गज की दूरी बनाये रखें। कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए पहले से बीमार बुजुर्गों, बच्चों, गर्भवती महिलाओं को संक्रमण से बचाये।