84 कोसी परिक्रमा मार्ग के लिए भूमि का अधिग्रहण 30 मीटर के बजाय 45 मीटर चौड़ा किया  जायेगा:  केशव मौर्य

 

लखनऊः

मा0 केंद्रीय मंत्री सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ,भारत सरकार श्री नितिन गडकरी की अध्यक्षता में आज परिवहन भवन नई दिल्ली में अयोध्या के विकास व 84 कोसी परिक्रमा तथा राम वन गमन मार्ग सहित अन्य बिंदुओं पर एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया ।बैठक की अध्यक्षता करते हुए श्री नितिन गडकरी ने कहा अयोध्या के विकास को लेकर सरकार बहुत गंभीर है और अयोध्या का चहुंमुखी, बहुमुखी व समग्र विकास किया जाएगा तथा सड़कों के क्षेत्र में भी पूरा विकास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राम वन गमन मार्ग और 84 कोसी परिक्रमा मार्ग प्राथमिकता में रखे गए हैं । कहा कि 84 कोसी परिक्रमा परिपथ का विकास 6 पैकेज में किया जाएगा श्री गडकरी ने राम वन गमन मार्ग के कार्य को शीघ्र प्रारंभ कराने के निर्देश दिए। उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य की पहल पर श्री नितिन गडकरी ने बाईपास बन जाने व रि एलाइनमेंट के कारण छूटे हुए पुराने राष्ट्रीय राजमार्गों के वृहद रखरखाव को सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की । उन्होंने अयोध्या -वाराणसी के मध्य ग्रीन फील्ड हाईवे के निर्माण की डी पी आर तैयार कर शीघ्र स्वीकृत कराने के निर्देश एनएचएआई के अधिकारियों को दिए

उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने अयोध्या 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के लिए 30 मीटर चौड़ी भूमि अधिग्रहण के बजाय 45 मीटर चौड़ी भूमि अधिग्रहण के लिए व 2 लेन के बजाय चार लेन की सड़क के बनाए जाने की सहमति के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के प्रति आभार प्रकट किया ।
श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कई योजनाएं भी पाइप लाइन में है, जिनकी स्वीकृति शीघ्र ही मिल जाएगी ।उत्तर प्रदेश सरकार ने पूर्व में जो अड़चने थी, उन्हें दूर कर लिया गया है और उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से जो भी आवश्यकता होगी, उसे पूरा किया जायेगा।
बैठक में तय किया गया है आगामी (शनिवार)
7 अगस्त को अयोध्या में 84 कोसी परिक्रमा मार्ग व अन्य विकास कार्यों को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया जाएगा ।जिसमें 84 कोसी परिक्रमा मार्ग में पड़ने वाले जनपदों बस्ती, बाराबंकी गोंडा ,अयोध्या और अंबेडकर नगर के सांसद और इस मार्ग में पड़ने वाले सभी विधानसभा क्षेत्रों के विधायक, लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण के उच्च अधिकारी तथा संबंधित जिलों के जिलाधिकारी व अन्य उच्चाधिकारी प्रतिभाग करेंगे। बैठक की अध्यक्षता उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य करेंगे।
जिसमे अयोध्या के विकास और सड़कों के निर्माण के बारे में चर्चा की जाएगी और जन सामान्य व जनप्रतिनिधियो के सुझाव लिए जायेगे।श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा की रिंग रोड और( 275 किलोमीटर )अयोध्या 84 कोसी परिक्रमा फोरलेन नेशनल हाईवे होगा। 84 कोसी परिक्रमा मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किए जाने का निर्णय पूर्व में ही मा0 केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी द्वारा किया जा चुका है।श्री मौर्य ने कहा कि अयोध्या के पुरातन गौरव बढा़ने के लिए यह एक महत्वपूर्ण कदम है। 84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर 5 जिले आते हैं जिसमे बस्ती, गोंडा, अयोध्या,बाराबंकी और अंबेडकर नगर हैं ,84 कोसी परिक्रमा मार्ग बनने से रायबरेली , अयोध्या व सुल्तानपुर के लोग भी इससे सीधे जुड़ जाएंगे ,84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर भगवान राम से जुड़े पौराणिक स्थल पड़ते हैं। अयोध्या से 20 किलोमीटर उत्तर बस्ती जिले के मखौड़ा धाम से परिक्रमा यात्रा शुरू होती है और इसी स्थान से इस नेशनल हाईवे( 84 कोसी परिक्रमा मार्ग )की शुरुआत करने की रूपरेखा बन रही है। इस रास्ते में कई विश्राम स्थल बनाए जाने का भी प्रयास चल रहा है और इस 84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर रामायणकालीन पेड़ जैसे- आम, जामुन, पीपल बरगद आदि भी लगाए जाने की योजना बनाई जा रही है।
श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा राम वन गमन मार्ग के दोनों ओर वृहद वृक्षारोपण के साथ-साथ रामायणकालीन कथाओं का चित्रण करने वाली झांकियों का निर्माण भी इस पथ के दोनों और कराया जाएगा ।इस पथ में तत्कालीन ऋषियों से संबंधित झांकियां भी प्रदर्शित की जाएंगी। मार्ग के संरेखण में आने वाले
आर ०ओ० बी०, सेतु एवं शहरी आबादी क्षेत्रों में झांकियों के माध्यम से तत्समय की घटनाओं का सुंदर चित्रण किया जाएगा।

बैठक मे केंद्रीय राज्यमंत्री ,राज्य सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ,भारत सरकार जनरल वी के सिंह ,सांसद श्री लल्लू सिंह, श्री हरीश द्विवेदी राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण के वरिष्ठ अधिकारी, उत्तर प्रदेश लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री समीर वर्मा ,मुख्य अभियंता (राष्ट्रीय मार्ग ) लोक निर्माण विभाग उ०प्र० श्री अशोक कनोजिया सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।