सरकारी धन दोहन:फर्जी हस्ताक्षर कर दो वर्षों से निकल रहा वेतन,सीएम से शिकायत.

Spread the love

अमेठी। (राम मिश्रा)।आपने सरकारी विभागों में सेटिंग और अवैध तरीके से बेखौफ होकर सरकारी धन दोहन के मामले सुनें होंगे लेकिन सूबे के जनपद अमेठी में सरकारी धन को डकारने का एक ऐसा आरोप सामने आया है जिसे सुनकर आप हैरान होकर बहुत कुछ सोंचने को मजबूर हो जायेंगे।

गौरतलब रहे कि ऊर्जामंत्री श्रीकांत शर्मा यूपी में रामराज और भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश की बात करते हुए अक्सर दिख जाते है लेकिन स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में उनके अपने ही विद्युत विभाग से एक शिकायत देखने को मिली है जिसे सुनकर अब विभागीय लोग स्तब्ध हो गए है।

फर्जी हस्ताक्षर कर दो वर्षों से भाई ले रहा मानदेय-
मुख्यमंत्री,ऊर्जा मंत्री एवं जिलाधिकारी अमेठी से गई शिकायत के मुताबिक,सत्य प्रकाश सुत राम दुलारे निवासी पिंडारा विद्युत उपकेंद्र मुसाफिरखाना द्वितीय पर संविदा कर्मी के पद पर तैनात है सत्य प्रकाश ने अधिसाषी अभियंता अमेठी को शिकायत करते हुए आरोप लगाया है कि उपकेंद्र मुसाफिरखाना द्वितीय में कार्यरत गोविंद कुमार का मानदेय वेतन इसी उपकेंद्र में तैनात संविदाकर्मी गिरिवर गोपाल,बिगत दो वर्षों से फर्जी हस्ताक्षर के जरिये ले रहा है और शिकायत की बात कहने पर संविदाकर्मी गिरिवर गोपाल खुद को विभाग के अधिकारियो का खास और मजबूत पकड़ का हवाला देकर फौजदारी पर आमादा हो जाता है।

एक आरोप ये भी
सत्य प्रकाश का आरोप है संविदाकर्मी गोविंद कुमार को आज तक विभाग के कोई कर्मी उपकेंद्र पर काम करते नही देखा है आरोप यहाँ तक है कि विभाग का कोई भी उसे नही पहचानता । सत्य प्रकाश ने दावा किया कि उसकी शिक़ायत सोलह आने सच है यही कारण है इस उपकेंद्र पर तैनात कई संविदाकर्मियों ने शिकायत पत्र पर हस्ताक्षर भी कियें है यही नहीं सत्य प्रकाश का कहना है कुछ एक अधिकारी को इस मामले की जानकारी भी है।

विशेष जांच की मांग
सरकारी धन को डकारने के इस मामले को लेकर अब सत्य प्रकाश ने मानदेय आहरण प्रपत्र पर हुए हस्ताक्षर की एक्सपर्ट से जांच कराते हुए समुचित कारवाई की मांग की है।

इनका कहना है 
वही जब इस मामले को लेकर कनीय अभियंता मुसाफिरखाना महेश पाण्डेय ने बताया कि इस उपकेंद्र पर मेरी तैनाती के समयावधि से संविदाकर्मी गोविंद गोपाल ड्यूटी कर रहा है इससे पूर्व की स्थिति के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *