सिडनी टेस्ट से पहले नरम पड़े कंगारू कप्तान के तेवर, टीम इंडिया को लेकर बोले ऐसा

Spread the love

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार भारती-

सिडनी- ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने बुधवार को कहा कि उनकी टीम भारत के खिलाफ पहली बार घरेलू टेस्ट श्रृंखला गंवाने की संभावना से परेशान नहीं है और यहां चौथे टेस्ट में उसका ध्यान प्रतिस्पर्धी होने पर रहेगा।

ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर भारत कभी टेस्ट श्रृंखला नहीं जीत पाया है लेकिन मौजूदा श्रृंखला में मेहमान टीम 2-1 से आगे है और इतिहास रचने के लिए गुरुवार से हो रहे टेस्ट में विराट कोहली की टीम को मेजबान टीम के खिलाफ सिर्फ ड्रॉ की दरकार है।

पेन ने मैच से पूर्व प्रेस कांफ्रेंस में स्वीकार किया, ‘मेरा ध्यान इस पर है कि हम अपने प्रदर्शन में सुधार करें और अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलें। हम जिस भी टेस्ट में खेलें उसे जीतना चाहते हैं। कभी कभी ऐसा करना संभव नहीं होता। हम फिलहाल दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम के खिलाफ खेल रहे हैं जो काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही है।’

ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न में तीसरे टेस्ट में 137 रन से हार का सामना करना पड़ा था। उन्होंने कहा, ‘मैंने श्रृंखला गंवाने के बारे में काफी नहीं सोचा है। अलग अलग खिलाड़ी प्रेरणा के लिए अलग अलग चीजों का इस्तेमाल करते हैं। मेरी प्रेरणा यह सुनिश्चित करना है कि हमारे प्रदर्शन में सुधार हो, हम हर समय प्रतिस्पर्धी रहें और भारत के खिलाफ अच्छी चुनौती पेश करें।’

पेन ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया का अनुभवहीन बल्लेबाजी क्रम मेलबर्न में नाकाम रहा लेकिन धीरे-धीरे अपनी गलतियों से सीख रहा है। ऑस्ट्रेलिया का कोई बल्लेबाज मौजूदा श्रृंखला में शतक नहीं जड़ पाया है और कप्तान को उम्मीद है कि अंतिम मैच में टीम इसकी भरपाई करेगी।

उन्होंने कहा, ‘जैसा कि मैंने पहले भी कहा कि हम लगातार काम कर रहे हैं। मुझे लगता है कि हम बेहतर होने के संकेत दे रहे हैं।’

पेन ने कहा, ‘मुझे लगता है कि पिछले टेस्ट में हमारे बल्लेबाजों ने बेजोड़ प्रदर्शन नहीं किया लेकिन अधिकांश खिलाड़ियों ने अच्छी शुरुआती की जो दर्शाता है कि वे इस स्तर पर सफल हो सकते हैं। इसलिए इस टेस्ट में हमारा ध्यान मुख्य रूप से हमारे बल्लेबाजी समूह पर होगा।’

स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर का गेंद से छेड़छाड़ मामले में प्रतिबंध मार्च में खत्म हो रहा है। कप्तान पेन ने सीधे इनका जिक्र नहीं किया लेकिन टीम में अनुभव की बात की। उन्होंने कहा, ‘हमें पता है कि बिना शतक जड़े हम अधिक मैच नहीं जीतने वाले और हमने इस बारे में बात भी की है। हम इसमें सुधार को लेकर उत्सुक हैं।’

पेन ने कहा, ‘अच्छी बात यह है कि कुछ मैचों के बाद कुछ विश्व स्तरीय बल्लेबाज उपलब्ध होंगे और हमारे पास कुछ युवा खिलाड़ी भी होंगे जो आठ से 10 टेस्ट खेल चुके होंगे। यह ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए शानदार चीज होगी।’

पेन ने इस सुझाव को भी खारिज किया कि वह अंतिम टेस्ट में बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आ सकते हैं। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने हैरानी जताई कि भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन चोट के कारण शायद अंतिम टेस्ट में नहीं खेल पाएं। ऑस्ट्रेलिया पिच को देखने के बाद लेग स्पिन ऑलराउंडर मार्नस लाबुशेन को पदार्पण का मौका दे सकता है।

पेन ने कहा, ‘मुझे लगता है कि हमारे कुछ बल्लेबाज इस खबर (अश्विन के संभवत: नहीं खेलने की खबर) को सुनकर खुश होंगे। लेकिन हमें पता है कि उनके पास कुछ और स्पिनर हैं- कुलदीप यादव युवा है लेकिन प्रतिभावान है और रवींद्र जडेजा ने मेलबर्न में उनके लिए अच्छा किया।’

उन्होंने कहा, ‘हम आज एक बार फिर विकेट को देखेंगे और संभवत: दोपहर तक फैसला करेंगे। यह टीम संतुलन पर निर्भर करेगा कि कौन खेलेगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *