Slowdown की चपेट में आया रियल एस्टेट सेक्टर!जुलाई-सितंबर तिमाही में घरों की बिक्री 9.5 फीसदी घटी

Spread the love

नई दिल्ली। देश में आर्थिक मंदी का दौर बना हुआ है। इससे कोई भी क्षेत्र अछूता नहीं है। रियल एस्टेट सेक्टर भी इसकी चपेट में आता जा रहा है। प्रोपइक्विटी की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, चालू साल की जुलाई-सितंबर तिमाही में देश के प्रमुख नौ शहरों में घरों की बिक्री में 9.5 फीसदी की गिरावट हुई है। इस अवधि में इन शहरों में कुल 52,855 यूनिट्स की बिक्री हुई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इकोनॉमिक स्लोडाउन के कारण मांग में कमी और नकदी संकट के कारण ग्राहकों का सेंटीमेंट बदल रहा है।

हाउसिंग सेल्स में गिरावट पर चौथी रिपोर्ट

कैलेंडर वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में यह चौथी रिपोर्ट है जो हाउसिंग सेल्स में गिरावट का इशारा कर रही है। हाउसिंग सेगमेंट की मुख्य ब्रोकरेज फर्म प्रोपटाइगर और एनरॉक इससे पहले हाउसिंग सेल्स में जुलाई-सितंबर तिमाही में क्रमश: 25 फीसदी और 18 फीसदी की गिरावट की बात कह चुकी हैं। इसके अलावा कॉमर्शियल प्रॉपर्टीज लीजिंग की मुख्य कंसल्टेंट जेएलएल इंडिया भी एक फीसदी गिरावट की बात कह चुकी है।

जुलाई-सितंबर के मध्य 52,855 यूनिट्स की बिक्री

प्रॉपइक्विटी के डाटा के अनुसार, जुलाई-सितंबर 2019 के मध्य 52,855 यूनिट्स की बिक्री हुई है जो एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले 9.5 फीसदी कम है। पिछले साल इस अवधि में 58,461 यूनिट्स की बिक्री हुई थी। प्रॉपइक्विटी के संस्थापक और मैनेजिंग डायरेक्टर समीर जसूजा का कहना है कि ग्राहकों के खरीदारी के टालने के कारण निश्चित तौर पर पिछली तिमाही में मांग प्रभावित हुई है। जसूजा का कहना है कि रियल एस्टेट सेक्टर में लगातार डाउनट्रेंड बने रहने के लिए इकोनॉमिक स्लोडाउन और बाजार में नकदी की कमी मुख्य कारण हैं।

न्यू लॉन्च में 24 फीसदी की गिरावट

रिपोर्ट में कहा गया है कि जुलाई-सितंबर तिमाही में न्यू लॉन्च 24 फीसदी घट गई है और यह 32,834 यूनिट्स रही है। हालांकि इस अवधि में अनसोल्ड हाउसिंग स्टॉक घटा है। रिपोर्ट के अनुसार, जून तिमाही की समाप्ति पर 6,21,806 यूनिट्स के मुकाबले सितंबर तिमाही की समाप्ति पर बिना बिके घरों की संख्या घटकर 6,01,785 यूनिट रह गई है। प्रॉपइक्विटी के डाटा के अनुसार, सात प्रमुख शहरों में सेल में कमी दर्ज की गई है जबकि दो शहरों में बिक्री में वृद्धि हुई है।

चेन्नई में सबसे ज्यादा गिरावट

रिपोर्ट के अनुसार, हाउसिंग सेल्स के मामले में चेन्नई में सबसे ज्यादा 25 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। इस साल जुलाई-सितंबर तिमाही में यहां 3060 यूनिट्स की बिक्री हुई है जबकि पिछले साल समान अवधि में 4080 यूनिट्स की बिक्री हुई थी। मुंबई में 22 फीसदी कि गिरावट दर्ज की है और इस अवधि में 5063 यूनिट्स की बिक्री हुई है। इसके बाद हैदराबाद का नंबर आता है जहां 16 फीसदी की गिरावट के साथ 4257 यूनिट्स की बिक्री हुई है। कोलकाता में 12 फीसदी की गिरावट के साथ 3069 यूनिट्स की बिक्री हुई है जबकि नोएडा में 11 फीसदी की गिरावट के साथ 990 यूनिट्स की बिक्री हुई है। केवल गुरुग्राम और पुणे में हाउसिंग सेल्स में वृद्धि दर्ज की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *