रफाल डील पर राज्यसभा में CAG रिपोर्ट पेश, नई डील यूपीए सरकार से सस्‍ती

नई दिल्‍ली। बजट सत्र के अंतिम दिन सरकार ने लोकसभा से पहले राज्‍यसभा में CAG रिपोर्ट पेश कर दी है। रिपोर्ट को सदन के पटल पर केंद्रीय मंत्री पी राधाकृष्णन ने रखा। राज्यसभा में पेश CAG रिपोर्ट के मुताबिक 126 विमान के सौदे के मुकाबले 36 रफाल विमान के सौदे में भारत ने 17.08 प्रतिशत की रकम बचाई है। बता दें कि रिपोर्ट पेश होने से पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इसे नकार चुके हैं।

रफाल के दाम नहीं बताया
राज्यसभा में पेश CAG रिपोर्ट में बताया गया है कि मोदी सरकार ने जो रफाल विमान की डील की है, वह यूपीए सरकार के डील से सस्ती है। हालांकि रिपोर्ट में विमान के दाम नहीं बताए गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि पहले 18 रफाल विमानों का डिलीवरी शेड्यूल उस शेड्यूल से पांच महीने पहले की है, जो 126 विमानों के लिए किए गए सौदे में प्रस्तावित था। राज्यसभा में पेश की गई CAG रिपोर्ट में कहा गया है कि 126 विमानों के लिए किए गए सौदे की तुलना में भारत की ओर से अपनी जरूरतों के हिसाब से करावए गए परिवर्तनों के साथ 36 राफेल विमानों के सौदे में 17.08 फीसदी रकम सरकार ने बचाई है।

CAG रिपोर्ट में क्या है?
कैग रिपोर्ट में भारतीय एयर फोर्स की कई डील के बारे में जानकारी साझा की गई हैं। इन्हीं में रफाल डील भी एक हिस्सा है। कैग की इस रिपोर्ट में रफाल विमान के दामों के बारे में जिक्र नहीं है। जबकि विपक्ष लंबे अरसे से दाम के मुद्दे पर ही केंद्र सरकार को घेरने में लगा है। रिपोर्ट में डिफेंस डील के हर पैरामीटर को परख कर आंकड़े दिए गए हैं।