मोदी सरकार ने उठाया बहुत बड़ा कदम, रोका पाकिस्तान जाने वाला पानी

Spread the love

नई दिल्ली। पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए आतंकी हमले के बाद  भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा कदम उठाते हुए वहां को जाने वाला पानी रोक दिया है। भारत की तीन नदियों ब्यास, रावी और सतलुज नदी का पानी रोक कर उसे यमुना में मिलाया जाएगा। इस पानी को मोड़कर कश्मीर और पंजाब को दिया जाएगा।  अब इस भारत के इस कदम से पाकिस्तान में पानी को त्राहि-त्राहि मच सकती है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है।

में हमारी सरकार ने निर्णय लिया है कि हम पाकिस्तान को दिए जाने वाले अपने हिस्से के पानी को रोकेंगे।  इस पानी को पूर्वी नदियों और सप्लाई के जरिए जम्मू-कश्मीर और पंजाब के लोगों के लिए भेजा जाएगा और बचा हुआ पानी दूसरे रावी-ब्यास लिंक को दिया जाएगा। रावी नदी पर शाहपुर- कांडी डैम का निर्माण शुरू हो चुका है। यूजीएच परियोजना हमारे हिस्से के पानी को स्टोर करेगी। सभी परियोजनाओं को राष्ट्रीय परियोजना घोषित किया गया है।

जानिए, 1960 में पाक से हुआ था कैसा समझौता

बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच 1960 में हुआ सिंधु जल समझौता पूर्व की तरफ बहने वाली नदियों- ब्यास, रावी और सतलुज के लिए हुआ है। सिंधु जल संधि के अनुसार भारत पूर्वी नदियों के 80% जल का इस्तेमाल कर सकता है, हालांकि अब तक भारत ऐसा नहीं कर रहा था। भारत के इस कदम के बाद पाकिस्तान के सामने बड़ी चुनौतियां पैदा होने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *