PM मोदी ने कहा- 2022 तक सबको अपना पक्का घर मिले यह मेरा सपना है

Spread the love

विज्ञान भवन में आयोजित कंस्ट्रक्शन टेक्नॉलजी इंडिया 2019 कॉन्फ्रेंस में पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार की सस्ते हाउसिंग कार्यक्रमों का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि मुझे अक्सर यह सुनकर दुख होता है कि हमारे देश में ज्यादातर लोगों के पास अपना घर नहीं है. मेरा सपना है कि 2022 तक सबका पक्का मकान हो. उन्होंने कहा, ‘कंस्ट्रक्शन में अपनी सोच को लेकर हमने बदलाव किया है. घर हो, मकान हो, कमर्शियल बिल्डिंग या सड़क क्यों न हो, इन्हें इको फ्रेंडली बनाने के लिए हमने काम किया. सस्ते घरों पर जीएसटी को कम कर दिया है. इसे 8 फीसदी से घटाकर 1 फीसदी तक कर दिया है.’ आपको बता दें कि पीएम मोदी दिल्ली में कंस्ट्रक्शन टेक्नॉलजी इंडिया 2019 कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे.

इनकम टैक्स कम किया- पीएम मोदी ने कहा कि 5 लाख रुपये तक की आय पर टैक्स जीरो कर दिया गया है. इसके अलावे अब दो घरों के अनुमानित किराये पर कोई इनकम टैक्स नहीं देना होगा. उन्होंने बताया कि इसी तरह पूंजीगत आय पर टैक्स से छूट अब एक के बजाय दो घरों पर मिलने वाली है, ये तमाम प्रयास मध्यम वर्ग को नए घर घरीदने के लिए प्रोत्साहित करने वाले हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में कंस्ट्रक्शन की अप्रोच में सरकारने एक और बदलाव किया है. उन्होंने कहा, अब चाहे सड़कें हों, रेज़िडेंशियल अपार्टमेंट्स हों या फिर कमर्शियल बिल्डिंग्स, इको फ्रेंडली, प्राकृतिक आपदा का सामना करने वाले और ऊर्जा संरक्षण को बढ़ावा देने वाले निर्माण को प्रोत्साहन दिया जा रहा है.

जीएसटी दरों में कमी- पीएम ने कहा कि हाल में ही कंस्ट्रक्शन सेक्टर पर GST का बोझ कम किया है. उन्होंने कहा कि अफॉर्डेबल हाउसिंग पर GST 8 प्रतिशत से घटाकर 1 प्रतिशत किया गया है, वहीं अंडर कंस्ट्रक्शन हाउसिंग प्रोजेक्ट्स पर GST 12 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत किया गया. पीएम ने कहा कि इसका फायदा घर बनाने वालों और खरीदने वालों को मिलेगा.

पीएम मोदी ने कहा भारत में शहरीकरण तेजी से हो रहा है. शहरों का दायरा बढ़ा है और लोगों की घरों की जरूरतें बढ़ी है. सरकार हाउसिंग सेक्टर की नीति इस पर फोकस कर बनाई जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि घर सिर्फ दीवारें नहीं होती है, बल्कि ये वो जगह होता है जहां सपनों को सच करने की ताकत पैदा होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *