पश्चिम बंगाल में सियासत तेज, राहुल ने कहा- पूरा विपक्ष ममता बनर्जी के साथ

Spread the love

नई दिल्ली ।  चिट फंट घोटाले में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर से पूछताछ करने पहुंची सीबीआइ को लेकर सियासत गरमा गई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, आंध्र के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू से लेकर तमाम विपक्षी नेताओं ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात कर उन्हें अपना समर्थन दिया है। खुद ममता बनर्जी ने भी कहा कि विपक्ष के नेताओं ने फोन कर लोकतंत्र की रक्षा की इस लड़ाई में उनका समर्थन जताया है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने फोन पर ममता बनर्जी से बात की और कहा कि पूरा विपक्ष उनके साथ है और हम फांसीवादी ताकतों को हरा कर रहेंगे। पश्चिम बंगाल में जो कुछ भी हुआ है वह देश की संस्थाओं पर प्रधानमंत्री और भाजपा की तरफ से किए जा रहे हमलों का हिस्सा है। वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने रविवार को कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के प्रति मोदी और शाह की नफरत जगजाहिर है।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा और प्रधानमंत्री राज्य में विवाद खड़ा करने के लिए आमादा हैं। ताकि उन्हें वर्ष 2019 के चुनाव में सस्ती लोकप्रियता मिले। उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार ने संघीय ढांचे पर हमले करके गैर कामकाजी और गैर उत्पादक संसद सत्र सुनिश्चित किया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कोलकाता की घटना के लिए सीधे-सीधे पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने लोकतंत्र और संघीय ढांचे का माखौल बना दिया है।

मोदी-शाह को लोकतंत्र के लिए खतरा बताते हुए उन्होंने सीबीआइ की कार्रवाई की निंदा भी की। वह सोमवार को ममता बनर्जी से मिलने कोलकाता भी जाएंगे। बता दें कि पिछले साल जब केजरीवाल ने दिल्ली उप राज्यपाल के खिलाफ धरना दिया था तो ममता बनती न सिर्फ उनका समर्थन किया था, बल्कि उनसे मिलने भी आई थीं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री नायडू ने ट्वीट कर घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले विभिन्न राज्यों में राजनीतिक विरोधयिों पर हमलों के खतरनाक नतीजे होंगे।

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भी ममता बनर्जी का समर्थन करते हुए सीबीआइ की कार्रवाई की आलोचना की। उन्होंने कहा कि देश में गृह युद्ध जैसी स्थिति पैदा करने की कोशिश की जा रही है। तेजस्वी यादव ने भी ममता बनर्जी से बात ही और सोमवार को उनके कोलकाता जाने की भी संभावना है।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने भी इसे संघीय ढांचे पर हमला बताया है। वहीं, एनसीपी नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि सीबीआइ का राजनीतिक इस्तेमाल सारी सीमाओं को पार कर गया है।कांग्रेस नेता अहमद पटेल, द्रमुक प्रमुख एमके स्टालिन ने भी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री से बात की और अपना समर्थन व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *