रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की पाकिस्तान को खरी खरी, कहा- अब बात PoK पर होगी और किसी मुद्दे पर नहीं

Spread the love

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने से बौखलाए पाकिस्तान को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दो टूक जवाब दिया है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अनौपचारिक चर्चा पर इतरा रहे पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा है कि अब बात PoK पर होगी और किसी मुद्दे पर नहीं होगी. हरियाणा के पंचकूला में रक्षामंत्री ने पाकिस्तान को खूब खरी खरी सुनाई.

राजनाथ सिंह ने कहा, ”धारा 370 और 35A हटने से हमारा एक पड़ोसी बौखला गया है और दुनिया के तमाम देशों का दरवाजा खटखटा रहा है. पाकिस्तान के लोग कहते हैं भारत और पाकिस्तान के बीच बात होनी चाहिए. किस बात पर बात होनी चाहिए, कौन सा मुद्दा है जिस पर बात होनी चाहिए, क्यों बात होनी चाहिए?”

उन्होंने कहा, ”पाकिस्तान से यदि बात होगी तो तभी होगी जब आतंकवाद को संरक्षण देने और पैदा करने का जो काम पाकिस्तान अपनी धरती पर कर रहा है, उसे खत्म करे. पाकिस्तान जब तक आतंकवाद को खत्म नहीं करता तब तक बाचतीत करने का कोई कारण नहीं है. आगे भी जो बातचीत होगी और किस मुद्दे पर होगी तो पाक अधिकृत कश्मीर पर बात होगी और किसी मुद्दे पर बात नहीं होगी.”

उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान आतंकवाद का इस्तेमाल कर हमारे देश को तोड़ना चाहता था. लेकिन हमारे 56 ईंच सीन वाले प्रधानमंत्री ने देश को दिखा दिया है कि निर्णय कैसे किया जाता है. पुलवामा हमले के बाद हमारी वायुसेना ने बालाकोट हमला किया था.’’ रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हाल में कहा था कि भारत बालाकोट से भी बड़े हमले की योजना बना रहा है, जिसका मतलब है कि उन्होंने स्वीकार किया कि बालाकोट में हवाई हमला हुआ था. इमरान खान बालाकोट हवाई हमले से इंकार करते रहे हैं.

उन्होंने कहा, ”भारतीय जनता पार्टी केवल सरकार बनाने के लिए नहीं बल्कि देश बनाने के लिए राजनीति करती है. मोदीजी के नेतृत्व में धारा 370 और 35A को खत्म कर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के विकास और वहां के युवाओं के भविष्य को ध्यान में रखते हुए उन्हें विकास की मुख्यधारा में शामिल किया गया है.”

परमाणु नीति पर भी बड़ा बयान दे चुके हैं रक्षा मंत्री
बता दें कि हाल ही में न्यूक्लियर पॉलिसी को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बड़ा बयान दिया था. उन्होंने पोखरण में कहा कि अभी तक हमारी न्यूक्लियर को लेकर पॉलिसी ”नो फर्स्ट यूज” की रही है लेकिन भविष्य में क्या होता है यह हालात पर निर्भर करेगा. राजनाथ सिंह ने कहा,”यह एक संयोग है कि आज मैं जैसलमेर में इंटरनेशनल आर्मी स्काउट कॉम्पीटिशन के लिए आया था और आज ही अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि है. इसलिए, मुझे लगा कि मुझे पोखरण की धरती पर ही उन्हें श्रद्धांजलि देनी चाहिए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *