DAVV दीक्षांत समारोह: विंग कमांडर अभिनंदन को मानद उपाधि

इंदौर। पाकिस्तान के फाइटर प्लेन को ध्वस्त करने वाले भारत के सपूत अभिनंदन वर्धमान के सम्मान में देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी एक पहल करने जा रहा है। यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने उन्हें मानद उपाधि देने की तैयारियां शुरू कर दी है। एक अनौपचारिक चर्चा में सभी कार्यपरिषद सदस्यों ने इस संबंध में प्रस्ताव बनाकर अगली बैठक में रखने की सहमति की है। इससे पहले यूनिवर्सिटी पुलवामा हमले के बाद शहीदों के बच्चों की पूरी फीस और सैनिकों के बच्चों की आधी फीस माफ करने का निर्णय ले चुकी है।

विंग कमांडर अभिनंदन के पाकिस्तानी फौज के कब्जे में आने के बाद से पूरा देश सुरक्षित वापसी की प्रार्थना कर रहा था। करीब ६० घंटे बाद सकुशल भारत लौटने पर हर तरफ जश्न का माहौल है। इसी जश्न के बीच देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी ने देश के हीरो अभिनंदन का अभिनंदन करने की तैयारी की है। कुलपति प्रो.नरेंद्र धाकड़ ने बताया, अगले दीक्षांत समारोह में ही देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी विंग कमांडर अभिनंदन को मानद उपाधि से सम्मानित करेगी। मालूम हो, बीते तीन दीक्षांत समारोह में मानद उपाधि देने के लिए करीब आधा दर्जन नामों पर विचार हुआ लेकिन, किसी पर भी सहमति नहीं बन पाई। अभिनंदन को मानद उपाधि देने के लिए कार्यपरिषद सदस्यों ने भी सहमति प्रदान कर दी है। कुलपति का कहना है कि अभिनंदन को मानद उपाधि देना न सिर्फ यूनिवर्सिटी बल्कि पूरे शहर के लिए गर्व की बात होगी। कार्यपरिषद सदस्य आलोक डावर ने भी कुलपति समेत अन्य सदस्यों से चर्चा कर अगली बैठक में ही मानद उपाधी का प्रस्ताव लाने की सहमति बनाई। दोपहर में शनिवार को युवा कांग्रेस के लकी वर्मा, अभिजीत पांडे व अन्य ने कुलपति से मिलकर मानद उपाधि के लिए विंग कमांडर अभिनंदन के नाम का प्रस्ताव तैयार करने की मांग की।

 

सिर्फ दो ही बार दी मानद उपाधियां

देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी पिछले तीन दीक्षांत समारोह से मानद उपाधि देने पर विचार कर रही है। इसके लिए कई नाम पर चर्चा हुई लेकिन, किसी पर सहमति नहीं बन पाई। अब तक यूनिवर्सिटी ने सिर्फ दो ही बार (१९८९ और २००७) में ही मानद उपाधियां दी। दोनों समारोह में कुल १५ शख्सियतों को मानद उपाधि से नवाजा गया।