गोदरेज एयरोस्‍पेस ने कम्‍यूनिकेशन सैटेलाइट CMS-01 को लॉन्‍च करने के लिए पीएसएलवी के 52वें मिशन के लिए इसरो के साथ सहयोग किया

Spread the love

समाचार भारती ब्यूरो मुंबई

गोदरेज एंड बॉयसजो गोदरेज समूह की प्रतिष्ठित कंपनी हैने घोषणा की कि गोदरेज एयरोस्‍पेस ने PSLV-C50 का उपयोग करके CMS-01 कम्‍यूनिकेशंस सैटेलाइट के सफल लॉन्‍च में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (इसरो) के साथ सहयोग किया है। पीएसएलवी के 52वें मिशन के अंतर्गत, सतीश धवन स्‍पेस सेंटर (एसडीएससी), एसएचएआर, श्रीहरिकोटा से CMS-01 लॉन्‍च किया गया।

CMS-01 भारत का 42 वां संचार उपग्रह है और जो GSAT 12R की जगह लेगा जिसे 2011 में लॉन्च किया गया था। CMS-01 एक संचार उपग्रह है जिसे आवृत्ति स्पेक्ट्रम के विस्तारित-सी बैंड में सेवाएं प्रदान करने के लिए परिकल्पित किया गया है। विस्तारित-सी बैंड कवरेज में भारतीय मुख्य भूमि, अंडमान-निकोबार और लक्षद्वीप द्वीप समूह शामिल होंगे। गोदरेज एयरोस्पेस ने रॉकेट और एंड्रॉइड थ्रस्टरों के दूसरे चरण के लिए प्रोपेल करने के लिए उपयोग किए जाने वाले विकास समोच्च इंजन का निर्माण करके एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

इस अवसर पर बोलते हुए, गोदरेज एयरोस्पेस के ईवीपी और बिजनेस हेड, सुरेंद्र एम वैद्य ने कहा, “यह हमें इसरो के साथ एक और सफल प्रक्षेपण के लिए संबद्ध होने का असीम गर्व देता है। हम विकास समोच्च इंजन और उपग्रह थ्रस्टरों के गर्व निर्माता हैं और इस लॉन्च के लिए समान योगदान देने के लिए खुश हैं। गोदरेज में, हम गर्व के साथ भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रमों के लिए स्वदेशी विनिर्माण के संचालन के लिए प्रतिबद्ध हैं जो वैश्विक मंच पर भारत की तकनीकी प्रगति को आगे बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण हैं। हम इसरो के भविष्य के प्रयासों के लिए हमारी भागीदारी को बढ़ाने के लिए तत्पर हैं।” 
गोदरेज एयरोस्पेस इसरो के साथ 30 वर्षों से पीएसएलवी और जीएसएलवी रॉकेटों के लिए तरल प्रणोदन इंजन, उपग्रहों के लिए थ्रस्टर्स, और एंटीना सिस्टम के निर्माण के लिए साझेदारी कर रहा है। गोदरेज एयरोस्पेस ने चंद्रयान और मंगलयान मिशनों में क्रमशः चंद्रमा और मंगल पर एक अभिन्न अंग की भूमिका निभाई है।

गोदरेज एंड बॉयस के विषय में

गोदरेज एंड बॉयस (‘G&B’), जो गोदरेज समूह की एक कंपनी है, की स्‍थापना वर्ष 1897 में हुई थी और इसने विनिर्माण के जरिए भारत को आत्‍मनिर्भर बनाने में सहयोग दिया है। जीएंडबी ने दुनिया का पहला स्प्रिंगलेस लॉक पेटेंट कराया और उसके बाद से, इसने सिक्‍योरिटी, फर्नीचर, एयरोस्‍पेस से लेकर इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर एवं डिफेंस जैसे विभिन्‍न क्षेत्रों में 14 कारोबार फैलाये हैं। गोदरेज भारत के सबसे विश्‍वसनीय ब्रांड्स में से एक है और यह रोज़ाना दुनिया भर के 1.1 बिलियन ग्राहकों की सेवा करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *