अमेरिका-ईरान के बीच बढ़ा तनाव, US ने कतर में तैनात किए एफ-22 लड़ाकू विमान

Spread the love

दोहा। अमेरिका ने ईरान के साथ बढ़ते तनाव के बीच शुक्रवार को पहली बार कतर में रडार से बच निकलने में सक्षम एफ-22 लड़ाकू विमान तैनात किए हैं. अमेरिकी वायुसेना की मध्य सैन्य कमान ने एक बयान में कहा कि एफ-22 रैप्टर स्टेल्थ विमानों को ‘अमेरिकी बलों और हितों की रक्षा’ के लिए तैनात किया गया है.

हालांकि बयान में यह नहीं बताया गया कि कितने विमानों को कतर भेजा गया है. इससे संबंधित एक तस्वीर में कतर के अल उदीद एयरबेस के ऊपर पांच विमान उड़ान भरते दिखाई दे रहे हैं. ‘स्टेल्थ’ विमान रडार की पकड़ से बच निकलने में सक्षम होते हैं.

ईरान के साथ 2015 में हुए परमाणु करार से अमेरिका के बाहर निकलने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव गहरा गया है. अमेरिका ने ईरान पर दोबारा प्रतिबंध लगा दिए हैं. बीते सप्ताह ईरान द्वारा संवेदनशील खाड़ी जलक्षेत्र में अमेरिकी ड्रोन मार गिराए जाने के बाद तनाव और बढ़ गया है.

जर्मन खुफिया एजेंसी बावरिया और एक लेबनान अखबार का मानना है कि ईरान ने ऐसे दो सीक्रेट हथियार विकसित कर लिये हैं, जिससे अमेरिकी की नींद उड़ी हुई है. अमेरिका को अहसास है कि अगर उसने हमला किया तो ईरान से मुंहतोड़ जवाब मिलेगा, जो बहुत भारी भी बैठ सकता है.

फिर अमेरिका को उसकी खुफिया एजेंसियों ने ये जरूर बताया होगा कि ईरान के पास जो दो सीक्रेट हथियार हैं, वो कैसे हैं. इस बीच ईरानी सेना की एक कमांड आईआरजीसी ने चेतावनी दी कि ईरान अपने खुफिया हथियार से अमेरिका की नकेल कस देगा. इसके बाद से ही ये सवाल पूरी दुनिया में पूछा जा रहा है कि ईरान के पास वो खुफिया हथियार कौन सा है और ये क्या कर सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *