हाउडी मोदी: राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत-अमेरिका को बताया दो महान लोकतंत्र, जानें भाषण की 10 बड़ी बातें

Spread the love

ह्यूस्टन में खचाखच भरे एनआरजी स्टेडियम में अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने करीब आधे घंटे के वक्तव्य में भारत और अमेरिका को दो ऐसे महान लोकतंत्र बताया जो अपने नागरिकों की समृद्धि और सुरक्षा के लिए साथ खड़े हैं। उन्होंने स्वयं को अमेरिकी राष्ट्रपति आवास व्हाइट हाउस में भारत का विश्वासपात्र मित्र बताया। साथ ही कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के लिए कमाल का काम कर रहे हैं और यह दोनों देशों के हित में है। यहां जानिए राष्ट्रपति ट्रंप के भाषण की 10 बड़ी बातें।

1. आपसे प्रेम करते हैं, हमेशा समर्थन देंगे: ट्रंप ने अपना वक्तव्य शुरू करते हुए कहा कि वे इस विशाल आयोजन में शामिल होकर काफी रोमांचित हैं। पृथ्वी के सबसे बड़े चुनाव में 60 करोड़ भारतीयों द्वारा चुने गए प्रधानमंत्री मोदी का साथ आना खास है। ट्रंप ने भारतीयों को सीधे संबोधित करते हुए कहा, ‘हम आपसे प्रेम करते हैं। आपको समर्थन करते हैं और हमेशा आपके साथ खड़े रहेंगे। व्हाइट हाउस में भारत का एक दोस्त है, उसका नाम है ट्रंप। और यह बात मोदी भी जानते हैं।’

2. हम दोनों के संविधानों के वे तीन सुंदर शब्द… : ट्रंप ने भारत और अमेरिका के संविधानों का उल्लेख करते हुए कहा कि दोनों दस्तावेज एक जैसे तीन सुंदर शब्दों ‘वी द पीपल…’ से शुरू होते हैं। यह दर्शाता है कि दोनों देश न्याय और अपने नागरिकों के प्रति समर्पित हैं। दोनों देश अपने नागरिकों के लिए लड़ते भी हैं और रक्षा भी करते हैं।

3. भारतीय-अमेरिकियों ने हमारे मूल्यों की रक्षा की: उन्होंने भारतीय अमेरिकियों को संबोधित करते हुए कहा कि इस समुदाय के करीब 40 लाख लोगों ने अमेरिकी संस्कृति को न केवल समृद्ध किया है, बल्कि अमेरिकी मूल्यों की रक्षा की है। उन्हें अमेरिकी नागरिक के रूप में देखना गर्व की बात है। इसके लिए आपका धन्यवाद।

पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत एक मजबूत राष्ट्र बनने की ओर अग्रसर: ट्रंप

4. ट्रंप ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत एक मजबूत राष्ट्र बनने की ओर अग्रसर है। एक दशक में भारत सरकार ने 30 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला है। 14 करोड़ परिवार अगले 10 साल में समृद्ध होंगे। यही अमेरिका में किया जा रहा है। हम दोनों अपने यहां से लाल फीताशाही को खत्म कर रहे हैँ, नौकरीशाही को नियंत्रित कर रहे हैं। 

5. अमेरिका में हमने कई नियम खत्म किए जिनसे हजारों नौकरियां पैदा हो सकीं। न्यूनतम वेतन दर बढ़ाने से कामगारों को 1 हजार डॉलर अतिरिक्त मिल रहे हैं, वहीं टैक्स में कमी से भी सालाना तीन हजार डॉलर का फायदा हो रहा है। टैक्सस के इतिहास में बेरोजगारी दर सबसे कम है, अमेरिका में भी पिछले 51 वर्षों की सबसे कम बेरोजगारी दर है, हम जल्द सबसे कम दर हासिल करने का रिकॉर्ड बनाएंगे।

6. उन्होंने कहा कि खास बात है कि बीते दो वर्ष में भारतीय-अमेरिकी समुदाय में बेरोजगारी दर में 33 प्रतिशत कमी आई है। अमेरिकी कर्मचारियों केलिए हमने 1.4 करोड़ रोजगार का वादा किया था, प्रशिक्षण देने का वादा किया था। हमने सबसे बड़ा टैक्स सुधार किया है।

7. भारत में एनबीए बास्केटबॉल देखने आ सकता हूं?: ट्रंप ने बताया कि अगले हफ्ते मुंबई में अमेरिका की विख्यात नेशनल बास्केटबॉल लीग का पहली बार शुभारंभ होने जा रहा है। उन्होंने मोदी से दोस्ताना अंदाज में पूछा, ‘क्या मैं इसे देखने के लिए आमंत्रित हूं? सावधान रहिएगा, मैं आ सकता हूं।’

जल्द नई रक्षा डील होंगे, सैन्य सहयोग बढ़ेगा

8. जल्द नई रक्षा डील होंगे, सैन्य सहयोग बढ़ेगा: ट्रंप ने बताया कि भारत और अमेरिका नवंबर में सैन्य अभ्यास ‘टाईगर ट्रायंफ’ आयोजित करने जा रहे हैं। दोनों देशों के बीच जल्द नई रक्षा डील होने जा रहे हैं। बीते एक दशक में इसे 1800 करोड़ डॉलर का इजाफा हुआ है। वहीं अमेरिका स्पेस फोर्स बनाने जा रहा है, जिसमें भारत के साथ सहयोग महत्वपूर्ण होगा। भारत को पिछले वर्ष कच्चे तेल व ऊर्जा का निर्यात 400 प्रतिशत बढ़ा है।

9. कट्टरपंथी इस्लाम के खिलाफ भी गर्व से साथ: पाकिस्तान का नाम लिए बगैर ट्रंप ने कड़े स्वर में कहा कि हम दोनों देश गर्व के साथ कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ खड़े हैं। (इस पर पीएम मोदी और भारतीय-अमेरिकियों ने खड़े होकर उनका समर्थन किया) ट्रंप ने कहा कि हम दोनों देश जानते हैं कि अपने समुदायों को सुरक्षित रखने के लिए हमें अपनी सीमाओं की रक्षा करनी होंगी। साथ ही कहा कि अपने देश में गैर-कानूनी प्रवासियों पर कार्रवाई करते हुए वे भारतीय प्रवासियों के हितों को देख रहे हैं।

10. लोकतंत्र की क्षमताएं असीमित: ट्रंप ने कहा कि अमेरिका और भारत मिलकर साबित कर रहे हैं कि लोकतंत्र की क्षमताएं असीमित हैं। दोनों देश आज जब अपने संबंधों को गहरा कर रहे हैं, वे अपने लोगों, बच्चों और भविष्य के बारे में सोच रहे हैं। हमारा यह सहयोग न केवल लाखों लोगों को गरीबी से उबारेगा, बल्कि विश्व को भी नई तकनीक और बेहतर भविष्य की ओर ले जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *