कमलनाथ सरकार को राहत, किसान मजदूर महासंघ अब नहीं करेगा आंदोलन

राष्ट्रीय किसान मज़दूर महासंघ ने अब आंदोलन नहीं करेगा. भोपाल में सीएम कमलनाथ से चर्चा के बाद महासंघ के नेता शिवकुमार शर्मा उर्फ कक्काजी ने ये एलान किया. किसानों की विभिन्न मांगों के समर्थन में महासंघ मध्य प्रदेश में 1 से 5 जून तक आंदोलन करने वाला था. लेकिन प्रदेश में किसानों के एक अलग संगठन किसान यूनियन का 3 दिन का आंदोलन जारी है.

आंदोलन वापस

राष्ट्रीय किसान-मजदूर महासंघ की कमलनाथ से चर्चा हुई. चर्चा के बाद महासंघ ने प्रस्तावित आंदोलन वापस ले लिया. महासंघ पूरे प्रदेश में 1 से 5 जून तक आंदोलन करने वाला था. लेकिन महासंघ के नेता शिवकुमार शर्मा ने पहले ही एलान कर दिया था कि अगला फैसला सीएम कमलनाथ से चर्चा के बाद लिया जाएगा. सीएम ने महासंघ के नेताओं को चर्चा के लिए बुलाया था. दोनों के बीच बातचीत सफल रही. सीएम ने महासंघ की मांगें सुनीं और उन पर विचार करने का आश्वासन दिया. महासंघ ने सीएम के आश्वासन पर भरोसा जताया और अपना आंदोलन वापस ले लिया.

सरकार का आश्वासन

किसान महासंघ को आश्वासन मिला कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में गठित कमेटी किसान हित में फैसला लेगी. समिति की हर 3 महीने में बैठक होगी. सरकार ने किसान कर्ज़ माफी की विसंगति दूर करने का भी भरोसा दिलाया.

ये थीं मांग

– भूमि अधिग्रहण कानून खत्म किया जाए.

– अनाज का अनावश्यक आयात रोका जाए.
– मंदसौर किसान गोलीकांड में प्रभावी कार्रवाई की मांग
– आंदोलन के दौरान किसानों पर लगाए गए केस वापस लिए जाएं
– किसानों की समस्याओं के निपटारे के लिए विकासखंड स्तर पर कमेटियां बनाई जाएं.
– लागत से अधिक आमदनी के लिए समर्थन मूल्य बढ़ाया जाए