दिग्विजय सिंह ने कहा- बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह हैं दलाल, नोटबंदी में की दलाली

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह दलाल हैं. उन्होंने नोटबंदी के दौरान नोटों की अदला-बदली में दलाली खाई. सिंह ने लोकसभा क्षेत्र खण्डवा के खरगोन जिले की झिरन्या तहसील के ग्राम आभापुरी में कांग्रेस प्रत्याशी अरूण यादव के समर्थन में विशाल चुनावी आमसभा को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि देश में नोटबंदी के दौरान लगभग 4 हजार 191 करोड़ रुपए देश के शीर्ष 10 जिला सहकारी बैंकों द्वारा बदले गये. इसमें सबसे ज्यादा 746 करोड़ रुपए अहमदाबाद की जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक द्वारा बदले गये. इस बैंक के अध्यक्ष अजय भाई एच. पटेल हैं और डायरेक्टर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह हैं. उल्लेखनीय है कि जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक खरगोन में भाजपा समर्थित अध्यक्ष रणजीत सिंह डंडीर ने भी भाजपा के लोगों के 113 करोड़ रुपए बदलवाये. नोटबंदी में खरगोन की यह बैंक नोटों की अदला-बदली में प्रदेश में टॉप पर थी.

सिंह ने कहा कि मोदी के झूठे वादों, जुमलेबाजियों और वादाखिलाफी को देश की जनता समझ चुकी है. इनसे त्रस्त भी हो गई है. किसानों, बेरोजगारों, गरीबों, गृहणियों और कारोबारियों को 5 साल तक झूठे वादों के झूलों में झूलाने वाले मोदी के दिन अब लद चुके हैं. इस बार बदलाव की एक नई तहरीर लिखी जाकर कांग्रेस को फिर से देश के मतदाता सत्ता सौंपेगें.

राहुल को प्रधानमंत्री बनायेंगें. क्षेत्र के विकास के लिए अरूण यादव को जिताएं. सिंह ने कहा कि भाजपा के सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने कभी भी झिरन्या, भीकनगांव या लोकसभा क्षेत्र के विकास की बात नहीं की. न ही उन्होनें यहा के विकास की बात राज्य या केन्द्र सरकार के समक्ष रखी. अपने अभिमान में भाजपा सांसद ने यहां के लोगों की तरफ देखा भी नहीं.

कांग्रेस प्रत्याशी अरूण यादव ने आरोप लगाया कि भाजपा प्रत्याशी के संसदीय कार्यकाल में खंडवा क्षेत्र में माफियाओं के आतंक का राज कायम रहा है . भ्रष्टाचार नें विकास को ध्वस्त कर दिया. नंदू भाई ने विकास की अनदेखी की है. अपना और अपने परिवार का विकास करने में लगे रहे. वे 30 वर्षों तक सांसद और विधायक रहे लेकिन लोकसभा क्षेत्र का विकास नहीं हो पाया. अब भाजपा प्रत्याशी नंदकुमारसिंह चौहान के माफियाराज के आतंक का खात्मा होगा.