मध्‍य प्रदेश : बरकतउल्ला विश्वविद्यालय का ये है हाल, छात्र ही जांचते मिले परीक्षा की कॉपियां

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार भारती-

भोपाल: देश के विश्वविद्यालयों में शिक्षा व्यवस्था लचर है, आधारभूत सुविधाएं नहीं हैं, छात्रों और शिक्षकों का अनुपात बेहद कम है लेकिन ये खबर हैरत से ज्यादा फिक्र जगाती है. आरोप है कि भोपाल के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से हिन्दी साहित्य के तीसरे वर्ष की कॉपी जांच के लिये सागर भेजी गई, जिसे वहां फर्स्ट ईयर के छात्र जांच रहे थे. आरोपों की जद में आए शिक्षक का कहना है कि उन्होंने कॉपी कहीं रखवाई थी, वहां जाकर लोगों ने फोटो खींच ली. ख़ैर यूनिवर्सिटी के गले ये सफाई उतरी नहीं है, उसने कमेटी बना दी है जांच के लिये. मामला इसलिये भयावह है क्योंकि यहां कई विश्वविद्यालयों की कॉपी की जांच होती थी.

कॉपी जांचते छात्रों का जो वीडियो वायरल हुआ है, उसमें कॉपी जांच रहा छात्र खुद को शासकीय आर्ट्स एंड कॉमर्स कॉलेज में प्रथम वर्ष का छात्र बता रहा है. वो जिन कॉपियों को जांच रहा था वह चौथे सेमेस्टर की थीं. छात्र ने बताया कि उसे यह कॉपियां शिक्षक ने दी हैं, लेकिन जब छात्र से शिक्षक का नाम पूछा गया तो उसने बताने से इनकार कर दिया. तस्वीरें सागर से भोपाल पहुंचीं तो बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के कुलपति ने फौरन कार्रवाई की.