राजभवन मांग रहा जांच रिपोर्ट, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के अधिकारी बेपरवाह

जबलपुर। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर में हो रही गड़बड़ियों के लिए वही जिम्मेदार हैं जिन पर शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने की जिम्मेदारी है। अब नया खुलासा ये है कि विश्वविद्यालय के अधिकारियों की मिलीभगत से कुछ लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए सभी नियमों को ताक पर रख राजभवन की जांच को लंबित किया जा रहा है। इन्हीं मागों को लेकर सोमवार को विश्वविद्यालय छात्रसंघ प्रभारी सोमदत्त यादव के नेतृत्व में छात्र-छात्राओं ने विश्वविद्यालय के कुलपति को 4 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।

विश्वविद्यालय छात्रसंघ प्रभारी सोमदत्त यादव ने बताया कि पत्रकारिता विभाग के अतिथि विद्वान मोहम्मद जावेद की जांच करने का आदेश राजभवन द्वारा दो महीने पहले दिया गया लेकिन आज तक जांच रिपोर्ट राजभवन नही भेजी गयी जो कि वि.वि .की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह है।

 

कुलपति को दिए ज्ञापन में छात्रसंघ ने मांग की है कि नियमानुसार जल्द ही यूजीसी की तय मानक अनुपात के तहत प्रत्येक 40 विद्यार्थी पर एक शिक्षक की नियुक्ति सुनिश्चित की जाए। विश्वविद्यालय द्वारा लागू किया गया सीबीसीएस(चॉइस बेस क्रेडिट सिस्टम) सिस्टम पूरी तरह से फेल हो गया है। इसके कारण परिक्षओं में नकल को बढ़ावा मिला है। इस विषय पर रादुविवि के उच्च पदाधिकारी छात्रसंघ के साथ मिलकर जल्द ही कमेटी का गठन कर ठोस निर्णय ले। साथ ही विश्वविद्यालय में मूलभूत सुविधा जैसे विभागों एवं पुस्तकालय की साफ सफाई, विभागों में पेयजल, शौचालय आदि के लिए उच्च स्तरीय कमेटी बनाकर वास्तविकता का आंकलन किया जाए तथा एक सप्ताह के अंदर इसकी समुचित व्यवस्था की जाए।

इस मौके पर छात्रसंघ नेता शिवम सिंह, सुरेंद्र कुशवाह, अभिनव तिवारी, रोहित सोनी, जितेंद्र कारपेंटर, दुर्गेश शर्मा और अम्बिकेश सिंह उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें :

http://www.samacharbharti.in/samachar-bharti/registrar-of-jabalpur-varsity-booked-for-financial-irregularities/

http://www.samacharbharti.in/samachar-bharti/jabalpur-univ-student-union-to-probe-charges-against-registrar-dipesh-mishra/