यूपी में पुलिस ने इतनी बेईमानी और भ्रष्टाचार कभी नहीं किया जितना अब कर रही : अखिलेश यादव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (UP) में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के रास्ते पर ठठिया मंडी पहुंचे पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और पूर्व सांसद डिम्पल यादव ने एक साहसी बच्चे को 25 हजार रुपये देकर सम्मानित किया। बच्चे ने पानी में डूब रही बच्ची रागनी की मोचीपुर कन्नौज में जान बचाई थी। इस मौके पर विधायक सदर अनिल दोहरे कुक्कू चौहान और अन्य नेता मौजूद रहे। इस मौके पर लखीमपुर रेप कांड पर पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि, दुखद है, लगातार भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार में घटनाएं हो रही हैं. एक के बाद एक दर्दनाक घटनाएं सुनने को मिल रही हैं। कभी नाबालिगों के साथ कभी छात्राओं के साथ… महिलाएं भी असुरक्षित हैं। याद कीजिए जब लॉकडाउन का समय था और हर चीज बंद थी तब अपराधियों ने खुले आम घटनाएं की थीं. लूट, अपहरण, बैंकों में डकैती, हर तरफ घटनाएं होती जा रही हैं. इतनी बेईमानी और भ्रष्टाचार पुलिस ने कभी नही किया होगा जो आज देखने को मिल रहा है।

उन्होंने कहा कि 100 नंबर इसलिए बाना था कि गरीब की मदद हो 100 को 112 करके उसे बेकार कर दिया। सरकार केवल राजनीतिक लाभ लेने के लिए परेशान कर रही है। आप याद कीजिए आजम खान समाजवादी बड़े नेता, उनके ऊपर कितने झूठे मुकदमे लगे। ये हम समाजवादी लोग कहते थे। बताएं आज उनके विधायक क्या कह रहे हैं। न जाने कितने विधायक कह रहे कि किस तरह से उन्हें अपमानित होना पड़ रहा है। यह सवाल अलीगढ़ विधायक का नहीं है कि पुलिस ने विधायक को मारा या विधायक ने पुलिस को मारा आखिरकार इसको सिखा कौन रहा है।

अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री जी सदन में कहेंगे ठोको, कभी जनता को नहीं पता किसको ठोकें, कभी पुलिस को नहीं पता किसको ठोकें। उसका परिणाम यह हुआ कि थाने में पुलिस को नहीं पता था किसको ठोकें और विधायक जी को नहीं पता था किसको ठोकें। आपको राज्यसभा के लिए वोट चाहिए था, उनका सब अपराध आप भूल गए। पता नहीं क्या कारण है जो चिल्ला रहे हैं विधायक, कहीं उनकी हत्या न हो जाए कहीं गाड़ी न पलट जाए।
गाड़ी पलट करके कितने फेक इनकाउंटर हुए हैं।

उन्होंने कहा कि यह सब किसान खड़े हैं, मंडी बन जाती तो इनकी आय दो गुनी हो जाती। तीन वर्ष से मंडी पड़ी हुई है। भारतीय जनता पार्टी की नजर है किसानों जमीन पर. बड़े-बड़े उद्योगपति किसानों की जमीन ले लेंगे और वे जो चाहते हैं वह पैदा करेंगे। और बाजार पर छोड़ दिया किसान को। अगर बाजार पर छोड़ दिया किसानों को तो किसानों को लाभ कभी नहीं हो सकता। यह सरकार की जिम्मेदारी है कि किसान को लाभ पहुचाए। याद कीजिए गुरसहायगंज कन्नौज में प्रधानमंत्री जी क्या कहकर गए थे कि आपकी आय दोगुनी हो जाएगी, किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा. किसान तो कर्ज में जा रहा है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को हम दे रहे थे। 60 से 70 एकड़ की मंडी बन गई होती जो किसानों का पैदा होता फूल उसका इत्र बन जाता। किसान भाइयों और कन्नौज के भाइयो सोचो. उन्होंने कहा कि हमारे सब भगवान, भगवान विष्णु हमारे, भगवान कृष्ण हमारे, भगवान राम हमारे. और जितने भी विष्णु के अवतार हैं वो सब हमारे. इसमें भारतीय जनता पार्टी को क्या तकलीफ है। हम तो देवियों को मानते हैं. इनके परिवार की महिलाएं सभी पूजा करती हैं. देवियों की नवरात्र में भी पूजा करती है। महिलाएं क्या भारतीय जनता पार्टी की देवियां हैं या हमारी और सबकी हैं।

अखिलेश यादव ने कहा कि विधायक, आम जनता सब परेशान है और अस्पतालों में दवाई नहीं है. अगर मेडिकल कॉलेज सही ढंग से चल जाता तो यहां गरीबों का इलाज होता. पैरा मेडिकल बंद, नर्सिंग होम बंद. बच्चों को ट्रेनिंग के बाद नौकरी मिल जाती, 500 बच्चे हर साल निकलते. हजार बच्चों को नौकरी मिलती. अब क्या बचा. आप पत्रकारो सुधार करो. आप मालिकों मे सुधार लाइए और लोकतंत्र को बचाएं आप लोग. 

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार थी उस समय जो साहसी कार्य या उत्कृष्ट कार्य होते थे तो उसकी सरकार मदद करती थी. रानीबाई योजना के तहत तमाम लोगों की मदद करते थे. अब मदद दूर छीनने को तैयार हैं. तेल कितना महंगा हो गया. खाद नहीं मिल पा रही, आय दो गुनी हुई नहीं. बचा लेना अपनी जमीनें नहीं तो बीजेपी की नजर जमीनों पर है.