कांग्रेस नेताओं की खोज प्रियंका पर आकर रूकी, पार्टी नेता गांधी परिवार को ही कमान सौंपने के पक्षधर

Spread the love

नई दिल्ली। कांग्रेस नेताओं की नए अध्यक्ष की खोज शायद पूरी हो गई है। दो महीने के बाद कांग्रेस की नेताओं की ओर से अधिकृत तौर पर कोई नाम सामने आया है तो महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का है। प्रियंका को कांग्रेस अध्यक्ष पद पर देखने की हसरत और मांग लंबे समय से उठती रही है लेकिन सांसद शशि थरूर के बाद अब पंजाब के वरिष्ठ नेता और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रियंका को सही विकल्प बताया है।

उन्होंने सीडब्ल्यूसी पर छोड़ा है कि वे जल्द निर्णय ले। कैप्टन के बयान से साफ है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता गांधी परिवार को ही कमान सौंपने के पक्षधर हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रियंका गांधी कांग्रेस को अध्यक्ष पद सौंपने की वकालत करते हुए ट्वीट किया है कि वे एक बेहतरीन पंसद हैं जिनके नाम पर सभी की सहमति और समर्थन होगा। उन्होंने शशि थरूर की मांग पर सहमति जताते हुए उन्हें एक करिशमाई नेता बताया है जो कांग्रेस कार्यकर्ताओं और मतदाताओं को पसंद आएगा।

कैप्टन ने इससे पहले किसी युवा को अध्यक्ष बनाने की बात कहकर तमाम वरिष्ठ नेताओं को दौड़ से बाहर किया था। शशि थरूर ने सोमवार को फिर दोहराया कि प्रियंका गांधी की उम्मीदवारी पर गांधी परिवार फैसला ले। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में अध्यक्ष पद का चुनाव उसी तरह हो जैसे ब्रिटेन की कंजरवेटिव पार्टी ने हाल ही में अपना पीएम चुना है। पूरी सीडब्ल्यूसी इस्तीफा दे और पार्टी के सभी पदों पर चुनाव के माध्यम से नेता चुने जाएं।

दूसरी ओर कांग्रेस ने 31 जुलाई को सभी महासचिवों की बैठक बुलाई है। बताया जा रहा है कि बैठक पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी 75वीं जयंति पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर बुलाई जा रही है। जबकि महासचिवों की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष और सीडब्ल्यूसी बैठक को लेकर चर्चा संभव है। सूत्रों के मुताबिक पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से बंद लिफाफे में एक नाम देने को कहा गया है। कांग्रेस नेता दो महीनों में किसी नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं।

पार्टी सूत्रों की मानें तो कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी प्रियंका से अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभालने की मांग की थी लेकिन उन्होंने इससे इंकार किया है। बताते हैं कि प्रियंका ने साफ कर दिया है कि उनके नाम को विकल्प न माना जाए वे बतौर महासचिव काम करती रहेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *