सीएम योगी के होली जुलूस पर ड्रोन कैमरे की होगी नजर, चप्‍पे-चप्‍पे पर तैनात रहेंगे सुरक्षाकर्मी

Spread the love

गोरखपुरः मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ होली के त्‍योहार में हर साल की तरह इस साल भी अपने गृह जनपद यानी गोरखपुर में रहेंगे. इस बार भी वे छोटी होली पर शाम को होलिका दहन में सम्मिलित होंगे. होली के दिन सुबह मंदिर में होली खेलने के बाद परम्‍परागत भगवान नरसिंह की शोभा यात्रा निकलेगी. इस जुलूस में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी सम्मिलत होंगे. सुरक्षा को देखते हुए निर्धारित रूट पर ड्रोन कैमरे की नजर रहेगी. इसके अलावा चप्‍पे-चप्‍पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे.

गोरखनाथ मंदिर प्रबंधन से लेकर होलिका दहन उत्सव समिति पाण्डेयहाता और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और श्री होलिकोत्सव समिति गीतानगर तक तैयारियों को अंतिम रूप में देने में जुटी है. हिन्दू युवा वाहिनी गुलरिहा बाजार में आयोजित होने वाले होली महोत्सव की तैयारियों में भी जुटी है. होली के दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ परम्परागत ढंग से गोरखनाथ मंदिर से लेकर गोरखपुर की सड़कों पर निकलने वाली भगवान नरसिंह की शोभा यात्रा तक होली का उल्लास दिखेगा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार की रात गोरखनाथ मंदिर में ही रहेंगे. लेकिन, मंदिर परिसर में होलिका दहन मंदिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ रात 8.14 बजे के बाद करेंगे. वैदिक रीति से पूजा कर होलिका दहन किया जाएगा. इस कार्य को गोरखनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित आचार्य रामानुज त्रिपाठी, पुरुषोत्तम चौबे, नित्यानंद तिवारी समेत अन्य आचार्य पूर्ण कराएंगे. मंदिर के प्रधान सचिव द्वारिका तिवारी के मुताबिक वर्षों से परम्परागत रूप से सबसे पहले पुराना रसूलपुर, पुराना हुमायूंपुर, गोरखनाथ मंदिर और उसके बाद पुराना गोरखपुर में परम्परागत ढंग से होलिका दहन होता है.

इन चारों मोहल्लों से गोरखनाथ मंदिर के संस्कृत विद्यालय के विद्यार्थी, आचार्य, महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के पदाधिकारी और गोरखनाथ मंदिर के योगी, पुजारी और अन्य कर्मचारी इस का कार्यक्रम में शामिल होते हैं. होली के दिन गुरुवार की सुबह 8 बजे के बाद सभी साधु-संतों, पुजारियों, संस्कृत विद्यालय के छात्रों-आचार्यों और श्रद्धालुओं के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ होलिका दहन के बाद राख उड़ाने पहुंचेंगे. वैदिक मंत्रों के बीच विधि-विधान से पूजा अर्चना के बाद सब एक-दूसरे के माथे पर होलिका दहन की राख से तिलक लगाएंगे. उसके बाद गुरु गोरखनाथ मंदिर के मुख्य चबूतरे पर लौटेंगे.

यूं तो मंदिर में होली पर भगवान राम और कृष्ण की भक्ति में डूबे फगुआ गीतों का कार्यक्रम सुबह से ही शुरू रहता है. लेकिन, सम्मत उड़ाने के बाद मुख्यमंत्री मंदिर के चबूतरे पर फगुआ गाने वालों के बीच बैठते हैं. यहां लोक गायक राकेश श्रीवास्तव, राकेश उपाध्याय सरीखे कलाकार समेत शहर के लोग इस कार्यक्रम में शामिल होते हैं. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और श्री होलिकोत्सव समिति गीतानगर के तत्वावधान में निकलने वाली शोभा यात्रा में मुख्यमंत्री शामिल होंगे. गुरुवार को अबीर-गुलाल और रंगों के बीच शोभा यात्रा की शुरुआत सुबह 8:30 बजे घंटाघर से होगी. शोभा यात्रा से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लोगों को सम्बोधित भी करेंगे.

इसके बाद गीत और प्रार्थना होगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बतौर गोरक्षपीठाधीश्वर भगवान नरसिंह की महाआरती कर शोभायात्रा के रथ पर सवार होंगे. रंग गुलाल खेलते हुए शोभा यात्रा का प्रस्थान होगा. यह शोभा यात्रा घंटाघर से निकलकर मदरसा चौक, लालडिग्गी, मिर्जापुर, घासी कटरा, जाफरा बाजार, चरण लाल चौक, आर्यनगर, बक्शीपुर, नखास चौक, रेती चौक होते हुए घंटाघर लौटकर समाप्त होगी. शोभायात्रा में नशा कर शामिल होना, नीला और काला रंग इस्तेमाल करना प्रतिबंधित होता है. गोरखनाथ मंदिर के मीडिया प्रभारी विनय गौतम के मुताबिक भगवान नरसिंह की शोभायात्रा से मुख्यमंत्री पुन: 2.30 बजे तक लौट आएंगे. उसके बाद अपराह्न 4 बजे से गोरखनाथ मंदिर में एक बार फिर होली का रंग जमेगा. मिठाईयों और गुझिया के बीच चंदन का तिलक लगा कर श्रद्धालुओं संग फगुआ गीतों के बीच मुख्यमंत्री होली मिलन कार्यक्रम करेंगे.

यह आयोजन काफी देर तक संचालित होता है. भगवान नरसिंह की शोभायात्रा में मुख्यमंत्री के शामिल होने के कारण पुलिस-प्रशासन ने सभी जरूरी तैयारियां कर ली है. यहां छतों के ऊपर भी पुलिस बल तैनात होता है. ड्रोन से भी निगरानी रखी जाएगी. कई स्थानों पर सीसी कैमरे लगाने के साथ सादी वर्दी में भी पुलिस बल तैनात किया जाएगा. शोभायात्रा की सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. शोभा यात्रा मार्ग पर भी पुलिस तैनात रहेगी. आरएसएस की ओर से निकलने वाली शोभायात्रा ‘रंगभरी’ में भी सीएम योगी हर बार की तरह इस बार भी सम्मिलित होंगे. छह किलोमीटर लंबे शोभायात्रा के रास्ते की निगरानी सीसी कैमरे की मदद से की जाएगी.

एसपी सिटी विनय कुमार सिंह, कोतवाली सीओ तारकेश्वर, सर्किल के सभी थानेदार ने रास्ते का निरीक्षण कर लिया है. राजघाट, कोतवाली और तिवारीपुर थानाक्षेत्र में विशेष सतर्कता बरती जा रही है. शोभायात्रा के मार्ग पर पड़ने वाली सभी बाजार की दुकानें इस दौरान बंद रहेंगी. सुरक्षा के लिहाज से घरों के छतों का निरीक्षण कराया गया है. हुड़दंग न होने पाए इसके लिए सादे वर्दी में भी पुलिस सड़कों पर गश्त करेगी. शोभायात्रा में 1500 सिपाही, सौ दरोगा, आठ अपर पुलिस अधीक्षक, 25 पुलिस उपाधीक्षक के अलावा दो कंपनी पीएसी तैनात रहेगी. चार ड्रोन कैमरे की मदद से पूरे शोभायात्रा की निगरानी की जाएगी.

भगवान नरसिंह की शोभायात्रा पर नगर निगम की ओर से सफाई के भी विशेष इंतजाम किए गए हैं. यात्रा रूट पर सफाई के लिए इमरजेंसी गैंग समेत 250 सफाई कर्मचारियों को लगाया गया है. वहीं निगम के निर्माण विभाग की ओर से यात्रा रूट की सड़कों को पैचवर्क का काम पूरा कर लिया गया. शोभायात्रा मार्ग पर होली खेलने के लिए नगर निगम की ओर से प्रमुख चार चौराहों पर पानी के टैंकर रखे जाएंगे. इसके साथ ही दो टैंकर जुलूस के साथ रहेंगे. शोभायात्रा के दौरान जलकल विभाग की ओर से बक्शीपुर चौराहा, अलीनगर चौराहा, नक्खास चौक और घंटाघर पर पानी के टैंकर रखे जाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *