UP में लॉकडाउन तोड़ने वालों की खैर नहीं, 42 हजार से अधिक लोगों पर पुलिस ने दर्ज की FIR

Spread the love

लखनऊ । मुख्यमंत्री ने आज जो बैठक की है उसमें कोविड-19 के सील इलाकों पर चर्चा की इसके तहत 13208 एफ आई आर दर्ज की गई है 188 के तहत 42 हजार 359 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है ईसी एक्ट में भी कार्रवाई की जा रही है अब तक पांच करोड़ 87 लाख चालान के रूप में जमा कराया जा चुका है।

मुख्यमंत्री ने जो आज हॉटस्पॉट इलाकों का रिव्यू किया है इन इलाकों में काफी तेजी से प्रगति हुई है कोविड-19 से प्रभावित संदिग्धों की जांच के लिए भी निर्देश दिया गया है नोएडा सहारनपुर और ग्रेटर नोएडा में जांच केंद्र जरूर बना लिया जाए हर जनपद में टेस्टिंग शुरु कर दी जाए आयुष विभाग द्वारा नया ऐप बनाया जाए जिससे राहत और बचाव जागरूकता पहले जो लोग 14 दिन के क्वॉरेंटाइन को पूरा कर चुके हैं, उन्हें होम कोरनटाइन में भेज दिया जाए जिन इलाकों में बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है उन पर सख्ती से इसका पालन कराने के निर्देश दिए हैं इस मास के लिए एडवाइजरी जारी कर दी गई है अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो आपके विरुद्ध कार्यवाही की जा सकती है हम मीडिया से अपील करते हैं कि वह सभी लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें।

प्रदेश में 50 लाख लीटर दूध उत्पादन हुआ है इस बार 33 लाख लीटर दूध वितरित किया गया तीन करोड़ पचास लाख 99 लाख 975 में से दो करोड़ 75 लाख 69 हजार 119 राशन कार्डों राशन का वितरण किया गया है।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद का बयान

आपके माध्यम से मैं सभी मेडिकल टीम जो चिकित्सा में लगी हुई है, हेल्थ केयर टीम का भी मैं आभार व्यक्त करना चाहूंगा, अभी तक उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस 431 के सामने आए हैं आइसोलेशन में 462 लोगों को उपचारित किया जा रहा है। 8632 लोगो को आइसोलेशन में रखा गया है। लेवल वन लेवल 2 लेवल 3 में 78 हमारी लेवल वन level-2 के 13 निजी क्षेत्र के अस्पताल है है सरकारी क्षेत्र के अस्पताल है इसके अलावा 45 सरकारी एवं प्राइवेट level-2 की चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध है इसमें और भी इलाज हो रहा है इसलिए उन्हें पूरी तरीके से नोटिफाइड नहीं किया गया है वहीं label- 3 के 6 हॉस्पिटल है है जिन पर टेस्टिंग की व्यवस्था शुरू कर चुके।

अब तक 9 लैब्स में 13 सौ सैंपल चेकिंग के लिए भेजा गया है। प्रयागराज, आगरा, राम मनोहर लोहिया, लखनऊ एनओसी आईसीएमआर ने क्लियर कर दिया है वही बरेली में भी एक हॉस्पिटल को क्लीयरेंस मिल गई है, इससे हम डेली टेस्टिंग की संख्या बढ़ा सकेंगे, इससे हम 1000 प्रतिदिन सैंपल टेस्ट किए जाएंगे और हमारा प्रयास है कि हम डेढ़ हजार तक सेंपलिंग टेस्ट कर सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *