जम्मू। पुलवामा हमले के बाद देश के आमजन में जो गुस्सा है वही गुस्सा देश के सुरक्षाबल में भी है. पुलवामा हमले में 40 जवान खोने का बदला लेना सेना ने शुरू कर दिया है. सोमवार को ही जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर गाजी राशिद उर्फ कामरान को ढेर कर दिया गया, लेकिन अभी लंबी लड़ाई है. सूत्रों की मानें, तो घाटी मे जैश के करीब 60 आतंकी एक्टिव हैं.

जम्मू-कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद ने अपने आतंकियों का जाल बिछाया हुआ है, पूरी घाटी में 60 आतंकी मौजूद हैं. जो अलग-अलग जिलों में फैले हुए हैं. बताया ये भी जा रहा है कि इनमें से 35 आतंकी विदेशी हैं, जो कि पूरी तरह से तैयार हैं.

आतंकियों जिस जगह छिपे हुए थे अब वह अपने ठिकानों को भी बदल रहे हैं. आतंकी शहरों से निकल कर सुरक्षित ठिकानों पर पहुंच गए हैं. इतना ही नहीं सरहद के पार पाकिस्तान की सेना भी इन आतंकियों को बचाने में जुट गई है.

LoC के पास पाकिस्तानी सेना अलर्ट पर है, उन्होंने भी उस पार स्थित आतंकी ठिकानों को शिफ्ट करना शुरू कर दिया है. आपको बता दें कि सेना लगातार कश्मीर में हो रही हर गतिविधि के बारे में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को ब्रीफ कर रही है.

आपको बता दें कि आज ही सीआरपीएफ के डीजी आर.आर. भटनागर गृह मंत्रालय में गृह सचिव को पुलवामा हमले की पूरी जानकारी देंगे. इसके अलावा सेना प्रमुख बिपिन रावत भी आज रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात करेंगे और जम्मू-कश्मीर के हालात के बारे में रिपोर्ट देंगे.

14 फरवरी को भारत ने अपने 40 जवानों को खोया था, जिसके बाद से ही सुरक्षाबलों ने घाटी में ऑपरेशन तेज कर दिया. सोमवार को ही पुलवामा में मुठभेड़ में सेना ने जैश ए मोहम्मद के गाजी समेत दो आतंकियों को ढेर किया. इस एनकाउंटर में 4 जवान भी शहीद हो गए हैं.